प्रवासी गर्भवती महिला और बच्चों को बाल विकास विभाग ने बांटा पोषाहार


सर्वे खत्म होने के बाद महिला और बच्चों को दिया गया पोषाहार


रिपोर्ट : टी0सी0विश्वकर्मा


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : बाल विकास विभाग ने जनपद में आये हुए प्रवासी का सर्वे खत्म करने के बाद उन प्रवासियों को डोर-टू डोर पोषाहार वितरण करने का कार्य किया जा रहा है। जनपद में इस समय कुल 2668 आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित किया जा रहा है। जिस पर कोविड-19 के नियमों का कठोरता पूर्वक पालन किया जा रहा है।


जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि विभाग द्वारा सर्वे का कार्य खत्म होने के बाद अब 25 जून तक प्रवासियों को पोषाहार वितरण करने का कार्य सभी केन्द्रों पर किया जायेगा। जिले में इस समय प्रवासी 1294 बच्चे व 354 गर्भवती महिलाये है। विभाग के सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया गया है कि वे अपने क्षेत्र के सभी प्रवासियों को डोर टू डोर पोषाहार वितरण करने का कार्य करें और उसके होने वाले फायदों के बारे में भी बतायें। पोषाहार वितरण के दौरान मास्क व ग्लस्ब पहनने की हिदायत दिया गया है और प्रति घण्टे हाथ व मुंह को साबुन से घुलने का भी परामर्श दिया गया है। पोषाहार वितरण के साथ ही साथ गर्भवती महिलाओं को आयरन और कैल्शियम वाली पोषण किट को भी देने का कार्य करें। इसके साथ ही साथ प्रवासी गर्भवती महिलाओं को कोविड 19 के सावधानियों के विषय में विस्तारपूर्वक समझाने का कार्य करें और उनको समझाने का भी कार्य करें कि जरूरत पड़ने पर ही वह घर से बाहर निकलने का कार्य करें। यदि जरूरत है तों मुंह को मास्क व हाथ को ग्लस्ब से ढकने का कार्य अवश्य करें। जिससे आप कोविड-19 से बच पायेगे।


जमालपुर विकास खण्ड के आर0एन0सिंह ने बताया कि इस समय विभाग द्वारा कुपोषण मुक्त की लड़ाई लड़ने का कार्य कर रहा है। बताया कि लांकडाउन के दौरान लोगो के आय के साधन कम हो गये है। इस कोरोना वायरस के दौरान प्रदेश व विभाग द्वारा चलाये जा रहे पोषाहार वितरण की योजना काफी हद तक लोगो के लिए मददगार साबित हो रही है। जमालपुर पोषाहार वितरण के दौरान विभा ने बताया कि पोषाहार के सेवन से शरीर में जरूरी तत्वों की पूर्ति हो जाती है। इसलिए बाजार से कुछ खरीदकर लाना तो मुश्किल हो जाता है। ऐसे में प्रदेश व विभाग द्वारा चलाये जा रहे पोषाहार वितरण की योजना आर्थिक तौर पर काफी मददगार साबित हो रही है।


 


 


 


 


 


 


Comments
Popular posts
‘श्रीयम न्यूज नेटवर्क’ की प्रतियोगिता ‘मां की ममता’ का परिणाम घोषित, आलेख वर्ग में रीता सिंह तो काव्य वर्ग में अंजू जांगिड़ ने मारी बाजी
Image
रिपब्लिकन पार्टी के कार्यकर्ताओं को दुध एल्गर आंदोलन में शामिल होना चाहिए - केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले
Image
मुंबई के गोवंडी इलाके में गरीबी से परेशान एक गरीब मजदूर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या.
Image
विश्व कल्याण हेतु अखंड रामायण पाठ का आयोजन
Image
बाल विकास विभाग की कारगर योजनाओं से ही कुपोषण से मिला मुक्ति, 2668 केन्द्रों पर पौष्टिक आहार के लिए बच्चों, महिलाओं व किशोरियों में आ रही जागरूकता
Image