पूरी तरह से ब्लाइंड-हत्या केस के दो हत्यारे को 48 घंटे के अंदर बिहार के छपरा से धर-दबोचा


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : मोहन गार्डन पुलिस को सूचना मिली कि मोहन गार्डन इलाके में जेल रोड के पास नवादा हाउस कॉमप्लेक्स के फ्लैट के निचली मंजिल मकान बंद मकान से गंदी बदबू आ रही है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर बंद पड़े मकान का ताला तोड़ते ही गंदी बदबू और भी बढ़ गयी। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि फ्लैट चार-पांच दिनों से बंद पड़ा है। फ्लैट का मालिक भी दिखाई नहीं दे रहा है। पुलिस को घर के अंदर संदिग्ध हालत मे एक यु़वक की लाश मिली, उसके हाथ-पैर कपड़े से बंधे हुए थे और गले में सफेद केबल की तार लिपटी हुई थी। लाश को कंबल से ढककर मेज के नीचे छुपाकर रखा गया था। मृतक की पहचान मुकेश चौधरी उम्र (24) के रूप में हुई। मृतक बिहार के जिला छपरा का रहने वाला था। वह भोजपुरी म्यूजिक-कंपोज करता था। मौके वारदात से घर के हालात का जायजा लेने पर ऐसा लग रहा था कि घर में लूटपाट भी हुई है और कई सारे म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट गायब पाए गए।


इस ब्लाइंड हत्या केस की शिकायत दर्ज करते ही नजफगढ़ एसीपी विजय सिंह के दिशा निर्देशानुसार एसएचओ बलजीत सिंह के नेतृत्व में बनी टीम एसआई सुभाष, अनिल कुमार, सिपाही संदीप, अजय, अश्वनी, सिपाही रवि ने वारदात वाली जगह के सभी सीसीटीवी फुटेज को खंगालते हुए चार-पांच दिन पहले के फुटेज में दो संदिग्ध युवकों को मृतक के घर से काफी मात्रा में समान को ऑटो-रिक्शा से ले जाते देखा। अब पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज व सूचना-तंत्र माध्यमों से जानकारी जुटाते हुए आरोपियों की आखिरी लोकेशन को छपरा बिहार मे पाया। तब मोहन गार्डन थाने से एक पुलिस टीम को जिला छपरा में भेजा गया। मुजरिमों की लोकेशन को ट्रेस करते हुए पुलिस ने दोनों आरोपियों का पीछाकर छापेमारी करते हुए दोनों हत्यारे-मुजरिमों को धर-दबोचा। इस दौरान सिपाही सदींप के पैर में चोट भी आई, लेकिन पुलिस पूरी मुस्तैदी से दोनों को हिरासत में लेते हुए दिल्ली लेकर आई।



द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस ने मीडिया-समक्ष बताते हुए कहा पकड़े गए दोनों आरोपियों की पहचान संतोष कुमार उम्र (26), दूसरा विक्की चौहान उम्र (24) के रूप में हुई। दोनों छपरा बिहार के निवासी हैं। पुलिस की कड़ी पूछताछ के दौरान दोनों मुजरिमो ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया कि आरोपी संतोष कुमार का अर्यान इंटेरनमेंट मीडिया नाम से यूट्यूब चैनल है। जिसके दो लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं और 6•2 मिलियन यूजर है। एक हजार से ज्यादा गाने अपलोड है। दूसरा आरोपी विक्की चौहान भी एक भोजपुरी सिंगर है। जिसने मृतक मुकेश के साथ मिलकर एक गाना रिकॉर्ड किया था। जिसके पैसे मुकेश ने अभी तक उसे नहीं दिए थे। आरोपी संतोष ने भी मुकेश के साथ काम किया था। उसके पैसे भी मुकेश ने नहीं दिए थे।



लॉकडाउन दौरान दोनों आरोपियों को पैसों की सख्त जरूरत थी। उन्होंने मुकेश से पैसों की मांग की थी लेकिन मुकेश ने उन्हें पैसे ना देने से साफ मना कर दिया था। उसके बाद दोनों ने मिलकर मुकेश की हत्या की प्लानिंग तहत दिल्ली नवादा उसके घर पर जाकर अपने किए काम के पैसे की मांग की लेकिन मुकेश द्वारा साफ इनकार करने पर दोनों ने गुस्से में आकर मुकेश चौधरी का कत्ल कर दिया पुलिस ने मौके पर तलाशी दौरान इन दोनों आरोपियों से मुकेश के घर से लूटपाट किए गए महंगे साउंड सिस्टम जिसमें कंप्यूटर मॉनिटर कम्पोजिंग मशीन,डिजिटल कीबोर्ड सांउड-कार्ड,ट्राईपोड और यामा-सांउड मिक्सर पुलिस ने इनसे जब्त कर लिया है मोहन गार्डन पुलिस की ओर से हत्या लूटपाट मामले को ध्यान मे रखते हुए आईपीसी की धारा तहत मामला दर्जकर दोनो मुजरिमो से गहन तफ्तीश जारी है पूरी तरह से ब्लाइंड-हत्या केस की गुत्थी को मोहन गार्डन पुलिस ने महज 48 घंटे के अंदर सुलझाते हुए अत्यंत काबिले तारीफ व सार्थक कार्यशैली को बखूबी अंजाम दिया है,जो एक सराहनीय कदम है ।


Comments