नगर विधायक ने भी कहा कि मंदिर चाक-चौबंद व्यवस्था के बाद ही खुलेगा


8 जून की बैठक में ही तय होगा बाहर नहीं


रिपोर्ट : सलिल पांडेय


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : मां विंध्यवासिनी की अहैतुकी कृपा ही है कि कोरोना के चलते लॉकडाउन लागू होने के 5 दिन पूर्व से ही बंद विंध्यधाम में खुद पंडा समाज ही नहीं बल्कि यहां के तीर्थ पुरोहितों के बीच के ही नगर विधायक रत्नाकर मिश्र भी कहीं से उतावले नहीं दिखे कि बिना समुचित तैयारी के मंदिर खोल दिया जाए।


गूंज रहा कि सभी पण्डा एकमत हैं - इसे भी सुखद आश्चर्य लोग मान रहे कि जहां विभिन्न संस्थाओं/प्रतिष्ठानों से जल्द ढील देने पर जोर दिया जा रहा है, वहीं विंध्यधाम का पंडा समाज धीरज धर्म मित्र अरु नारी, आपदकाल परखिहौं चारि चौपाई को मूर्त रूप दे रहा है । जबकि बहुतेरे शासन के 8 जून से मंदिर खोलने के एलान को बिना सोचे-समझे लागू करने  जिद कर रहा है । श्री मिश्र ने कहा कि वाराणसी में काशी-विश्वनाथ मंदिर की व्यवस्था का अध्ययन कर ही कोई निर्णय होगा ।


नगर विधायक की आंतरिक इच्छा - शुक्रवार को नगर विधायक श्री मिश्र तथा पंडा समाज के अध्यक्ष पंकज द्विवेदी एवं अन्य सदस्यों के साथ गहन विचार विमर्श के बाद तय हुआ कि 8 जून को विंध्य विकास परिषद के अध्यक्ष तथा DM सुशील कुमार पटेल के साथ महत्त्वपूर्ण बैठक के बाद ही तारीख तय की जाएगी । नगर विधायक श्री मिश्र ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि कोई दर्शनाथी किसी भी तरह की गलतफहमी का शिकार न बने । तारीख तय होते ही उसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा । तब लोग यहां दर्शनार्थ आएं । नगर विधायक श्री मिश्र ऐसे सभी लोगों की सराहना करते दिखे जो कोरोना महामारी में सरकार के साथ सकारात्मक भूमिका अदा कर रहे हैं ।


Comments