मुम्बई और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सो में बारिश होना ये साफ करता है कि ये निश्चित चक्रवर्ती तूफान आने के पहले की आहट है


रिपोर्ट : रितेश वाघेला


सिंधुदुर्ग : क्षेत्रीय मौसम विभाग ने कहा कि अरब सागर में बनने वाला निम्न दबाव का क्षेत्र तूफान में बदल जाएगा। जिला आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ ने मछुआरों से समुद्र में न जाने और समुद्र में से लौटने की अपील की है।



इस चक्रवात के प्रभाव के कारण, सिंधुदुर्ग जिले में 4 जून, 2020 तक मूसलाधार बारिश होगी। साथ ही जिले में तेज हवाएं चलेंगी। समुद्र उबड़-खाबड़ होने वाला है।



तूफान की पृष्ठभूमि के खिलाफ जिले की सभी प्रणालियों को सतर्क रहना चाहिए। खासतौर से तलैथियों, ग्राम सेवकों, तटीय इलाकों में पुलिस के गश्ती दल को सतर्क रहना चाहिए। साथ ही, सभी संबंधित एजेंसियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि खोज और बचाव सामग्री अच्छी स्थिति में हो। खोज और बचाव दल को काम करते रहना चाहिए। जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने विभाग के प्रमुख को निर्देश दिया है कि किसी भी दुर्घटना के मामले में नियंत्रण कक्ष को तुरंत सूचित करें और अगली सूचना तक मुख्यालय नहीं छोड़ें।



अरब सागर में बने कम दबाव के क्षेत्र और चक्रवाती तूफान के साथ मुम्बई समेत आसपास के इलाके जैसे ठाणे, पालघर, रायगढ़ और रत्नागिरी में मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी, जिसमें 3 और 4 जून पालघर जिले में भारी से बहुत भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। वही 3 और 4 जून को मुम्बई, ठाणे और रायगढ़ में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट चेतावनी जारी की है।



मुम्बई में मौसम बदलना शुरू हो गया है। मुम्बई में और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सो में बारिश होना ये साफ करता है कि ये निश्चित चक्रवर्ती तूफान आने के पहले की आहट है। मुम्बई में बीती रात 4 घण्टे जमकर बारिश हुई कि जगह पानी भर गया।



कोंकण के सिंधुदुर्ग और रत्नागिरी जिले में भी बारिश हो रही है। कोल्हापुर, सांगली, सातारा जिले भी बरसात रुक रुक कर जारी है। वही गोआ के कई हिस्सो में बारिश हो रही है। उधर अंडमान और निकोबार, लकहाद्वीप में भी काले घने बादल छाए हुए है। महाराष्ट्र सरकार ने मछुआरो को समुन्द्र में बिल्कुल न जाने की चेतावनी और अलर्ट जारी कर दिया है।



वैज्ञानिक शुभांगी भुते IMD मुंबई से चक्रवर्ती तुफान के संदर्भ में महाराष्ट्र और गुजरात की विश्लेषण करते हुए कहा है कि अरब सागर में बनने वाला निम्न दबाव का क्षेत्र तुफान में बदल जाने की संभावना है अगले १२ घंटे के लिए उतर महाराष्ट्र, कोंकण में अति वर्षा की संभावना जताई है।


Comments