Mumbai : कचरे और गंदगी के ढेर में तब्दील हुआ एम पूर्व वार्ड 135, डेंगू व मलेरिया प्रकोप बढ़ा


रिपोर्ट : एसपाल शर्मा


मुंबई : एम पूर्व घन कचरा विभाग के अधिकारियों, वार्ड के दस्तक बस्ती कर्मियों की लापरवाही से डेंगू, मलेरिया बुख़ार का प्रकोप देखा जा रहा है। मुख्य कारण सड़क किनारे ढाई महीनो से कोरोना लॉक डाउन में खड़ी बेलगाम पार्किंग में गाड़ियों के निचे जमा गंदगी, कचरा के ढ़ेर बन रहा है। उल्लेखनीय तौर पर स्थानीय क्लिनिक, डिस्पेंसरियों, स्वस्थ चेकअप कैम्प में इलाज करवाने के लिये मरीजों की भीड़ चारो तरफ दिखाई पड़ रही है। कहा जाता है कि वार्ड क्रमांक 135 इंदिरानगर रहवासिय क्षेत्र मालरिया डेंगू मच्छरों के चपेट में आने का मुख्य कारण स्थानीय नागरिकों के अनुसार सड़क किनारे फैली गंदगी कचरे है।


ढाई महीनों से खड़ी बेलगाम पार्किंग की हुई कोरोना लॉक डाउन में चार पहिया गाड़ियां जिनके नीचे भरे कचरे गंदगी के ढ़ेर की जरा भी सफाई न हो पाने के कारण बड़े पैमाने पर रहवासिय क्षेत्रों में डेंगू मालरिया मच्छरों के ब्रीडिंग स्पॉट में बदल चुके है। वहीं स्थानीय सामाजिक संस्थाओं, मंडलों ने मिलकर मनपा प्रशासन से मांग किया है कि ऐसे गाड़ी चालकों को चिन्हित कर लापरवाही बरतने वाले गाड़ी ड्राइवरों के भंगार के ढेर जो कचरे गंदगी के साथ बीमारी फैला रहे है उनके वाहनों को टोचन वैन के जरिये खींचकर मनपा गोदाम में पहुंचाये व दंडित किया जाये।


दूसरी ओर वार्ड क्रमांक 135 में सैनीटाइजेशन नियमित तौर पर किया जाये। धुवा की फ़व्वर्णी नियमीत अंतराल में हो, पालिका के कीटनाशक विभाग के कर्मीय मच्छरों के प्रजनन स्थानों की खोजकर राहवासिय क्षेत्र में विजिट करके नष्ट करे अन्यथा कोरोना महामारी को जड़ से खत्म करना मुश्किल ही नहीं ना मुमकिन है। मामले में स्थानिक वार्ड क्रमांक 135 की शिवसेना नगरसेविका समीक्षा सक्रे ने पत्रकारों से कहा कि शिकायत मिलने पर तुरंत करवाई होगी, मौजूदा समय मे मनपा 50 प्रतिशत पालिका कर्मीय को लेकर कोरोना महामारी से लड़ रही है। जनता भी खुद इस महामारी में प्रशासन का सहयोग परिसर स्वच्छ कर के दे।


Comments