Mumbai : देश चलाने में केंद्र सरकार पूरी तरह नाकाम – अबू आसिम आजमी

आसमान छूते पेट्रोल-डीजल की कीमतों के खिलाफ साइकिल चलाकर राज्यपाल को दिया निवेदन


मुंबई : समाजवादी पार्टी ने आ. अबू आसिम आजमी के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल के जरिये पेट्रोल और डीजल की बढ़ते हुए दामों पर केंद्र सरकार पर निशाना साधकर महाराष्ट्र राज्यपाल भगतसिंग कोश्यारी को निवेदन दिया और बढ़ते हुए पेट्रोल– डीजल के दामों पर नाराज होते हुए सायकल पर प्ले कार्ड लगाकर जिसमे लिखा था आजाद भारत में पहली बार डीजल निकला पेट्रोल के पार और आम आदमी और किसान झेल रहा है पेट्रोल–डीजल की मार ऐसी घोषणाएं लिखाकर उसे चलाते हुए राजभवन तक पहुंचे। इस वक्त उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा के, हर तरह से केंद्र सरकार देश चलाने में नाकाम साबित हुई है। जब के अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में गिरावट हुई है। लेकिन इसके बावजूद हमारे देश में रोज पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ती जा रही है। जिस तरह देश में कोरोना के मरीजों में बढ़ोतरी होती जा रही है और लॉक डाउन की वजह से ध्वस्त अर्थव्यवस्था की वजह से महेंगाई में भी बढ़ोतरी होती जारही है। २० लाख करोड़ का योजना प्रावधान केंद्र सरकार की तरफ से किया गया है पर उसमे से कितने लोगोंको इस योजना का लाभ मिला है। राज्य सरकार और केंद्र सरकार यह कहते है कि किरायदारों से किराया वसूल ना किया जाए। लॉक डाउन की वजह से पुरे कारोबार बंद हो चुके है। लॉक डाउन खुलने के बाद भी दूकान खुलने पर दुकानों में ग्राहक नहीं है। ऐसी हालत में सरकार छोटे व्यापारियों के लिए किसीभी प्रकार की मदद नहीं कर रही है। जब सरकार कहती है के किरायदारों से किराया वसूल ना किया जाए पर जिन लोगों का गुजारा किराय पर होता है, वह अपने परिवार की परवरिश कैसे करेंगे।



आज पुरे देश में रोजी रोटी का सवाल पैदा हुआ है। आज खाना न मिलने की वजह से लोग भुकमरी के शिकार हो रहे है। इसके बावजूद सरकार सिर्फ बड़ी बड़ी बाते कह रही है। इसी तरह लॉक डाउन के दौर में स्कूलों से बच्चों की फ़ीस ना लेने का हुक्म कर रही है तो क्या सरकार एसी स्कूलों को फंड देगी॥ अंतरराष्ट्रीय स्कूलों की फ़ीस लाखों रूपए होती है, पर जो निजी छोटे स्कुल है, जिनके पास फंड नहीं होता, न सरकार उनकी मदद करती है। तो वह बिना फ़ीस लिए कैसे स्कुल चला सकती है। उनका स्कुल का पूरा गुजारा फ़ीसपर होता है। ऐसे में वह कैसे अपने गरीब स्कुल शिक्षकों और कर्मचारियों को 10-15 हजार तन्खा देंगे। क्या सरकार इसे स्कूलों और छोटे व्यापारियों को बिना ब्याज लिए कर्ज देगी, सरकार बढ़ते हुए पेट्रोल डिजेल के भाव बढती हुए महगाई को सरकार कोरोना के आड़ में अपनी जान बचाएगी। सरकार पूरी तरह नाकाम हो चुकी है तथा बुरे दौर के तरफ कदम बढ़ा रही है। इसलिए मेरा निवेदन है की पेट्रोल डीजल की अपनी गाड़िया बेचकर सायकल चलाए। अबू आजमी ने कड़े शब्दों में केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए देश के आर्थिक स्थिति को तबाह करने का गंभीर आरोप लगाया और सरकार अपनी नाकामी और गलत फैसलों को छुपाने के लिए तरह तरह के तरीके अपनाकर और झूठे वादे कर के लोगों को गुमराह कर रही है। लेकिन अब जनता जान चुकी है के किस तरह इनका इस्तेमाल किया जा रहा है। यह निवेदन देते समय आ. अबू आजमी के साथ समाजवादी पार्टी के विधायक रईस शेख, नगरसेविका रुक्साना नाजिम सिद्दीकी, पार्टी के प्रमुख महासचिव मेराज सिद्दीकी महासचिव अब्दुल कदीर चौधरी,  कुबेर मौर्या, जुल्फेकार आजमी, अबरार अहमद सिद्दीकी, सलीम मिर्जा और आशीष ठाकुर मौजूद थे।


Comments