Mirzapur : प्रेम आखिरकार अपना रंग दिखा ही दिया



  • चौकी प्रभारी की मेहनत लाई रंग

  • प्रेमिका के आग्रह पर ग्रामीणों ने दोनाें की कराई शादी

  • प्रेमी के घर सप्ताह भर से रह रही थी प्रेमिका


रिपोर्ट : कमलेश मौर्या


मड़िहान/मिर्जापुर, (उ0प्र0) : राजगढ़ पुलिस चौकी क्षेत्र के राजगढ़ गांव की एक युवती अपने  प्रेमी की शादी दूसरी जगह तय होने की खबर सुनते ही प्रेमी के घर पहुंच गयी। जिस पर लड़के की माँ ने पुलिस को तहरीर देकर लड़की पर कार्यवाहीं करने कि मांग की थी। स्थानीय क्षेत्र के  राजगढ़ गांव निवासी एक युवक ने अपने पड़ोस की लड़की से वर्षों से प्रेम कर रहा था, युवती भी लड़के से प्रेम करती थी।युवक के परिजन युवक की शादी दूसरी जगह तय कर दिये। जिसका 5 जून को तिलक होना तय हुआ। इसकी खबर लगते ही प्रेमिका मंगलवार को अपने प्रेमी के घर पहुच गयी। मामला बढ़ता देख युवक की माँ पुलिस चौकी पर तहरीर दी। मौके पर पहुची पुलिस दोनों को समझना कर युवती को उसके घर पहुचाया। परन्तु बुधवार को सुबह पुनः युवती अपने प्रेमी के घर पहुच गयी। शुक्रवार को लड़की के पिता ने राजगढ़ पुलिस चौकी पर तहरीर देकर दोनों प्रेमियों की शादी कराने की गुहार लगाई। हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद प्रेमिका ने जब प्रेमी पर शादी का दबाव बनाया तो वह मुकरने लगा। इसपर भड़की प्रेमिका ने धमकी भरे लहजे में कहा कि वह कैसे शादी नहीं करेगा, देखती हूं। गांव की पंचायत ने तब दोनों की शादी कराने का फैसला किया और सोमवार को दोनों की शादी करा दी गई।


- पंचायत का दोनों की शादी कराने का फैसला : प्रेमी युवक मिर्जापुर जनपद के महुली कोटवा गांव के रहने वाला हैं‌। युवक के परिजन कई वर्षों से मड़िहान थाना क्षेत्र के राजगढ़ पुलिस चौकी क्षेत्र के राजगढ़ बैकटवां गांव में रहते हैं। बता दें कि लक्ष्मी शंकर का 21 वर्षीय पुत्र गोलू है। जबकि युवती राजगढ़ निवासी सुभाष की 18 वर्षीय पुत्री चंद्रावती है। दोनों सजातीय हैं। स्‍थानीय लोगों की पंचायत ने प्रेमिका के आग्रह पर दोनों की शादी कराने का फैसला किया।


- गांव के बड़ा महादेव मंदिर में हुई शादी : इसके बाद सोमवार की सुबह राजगढ़ ग्राम प्रधान प्रतिनिधि राजकुमार सिंह एवं गणमान्य लोगों ने प्रेमी-प्रेमिका का विवाह सोमवार की सुबह 10 बजे स्थानीय बड़ा महादेव मंदिर में कराने का फैसला किया। इस दौरान पंडित की मौजूदगी में विधि विधान से प्रेमी युवक युवती का धूमधाम से शादी संपन्न कराया गया। इसके अनुसार ग्रामीण महिलाओं ने मंगल गीत गाए। गांव के पुरुषों ने वर पक्ष की रस्म अदा की।


- पत्नी को विदा करा ले गया अपने घर : खास बात यह है कि प्रेमी युवक के तिलक का तारीख पड़ गया था। जब प्रेमिका को पता चला तो प्रेमिका प्रेमी के घर पहुंच कर शादी का दबाव देने लगी। प्रेमी शादी करने से इनकार करने लगा। इस पर प्रेमिका भड़क गई। उसने प्रेमी को खबरदार करते हुए कहा कि 'तुम कैसे शादी नहीं करेगा, देखती हूं। प्रेमिका ने वहां मौजूद लोगों को दोनों के बीच की बातचीत, तस्वीरें आदि दिखाकर शादी का दबाव बनाया। ग्रामीणों ने उसका साथ दिया। अंतत: प्रेमी सामाजिक दबाव के आगे झुकते हुए शादी कर पत्नी को विदा करा अपने घर ले गया।


- इनकी भूमिका रही महत्‍वपूर्ण : प्रेम प्रसंग के इस मामले को शादी के मुकाम तक पहुंचाने में राजगढ़ ग्राम प्रधान प्रतिनिधि राजकुमार सिंह सहित समाजसेवी आदि की भूमिका महत्वपूर्ण रही।


Comments