Mirzapur : खेल दिखाकर व भीख मांगकर भरण पोषण कर रहे परिवारो को मिला मनरेगा के तहत काम, सरकार का कर रहे है धन्यवाद


रिपोर्ट : बृजेश गोंड


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : विश्वव्यापी कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए लगभग तीन माह से लॉकडाउन लागू है। इस कारण प्रखंड क्षेत्र के दैनिक मजदूरों के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। दैनिक मजदूरी पर निर्भर मजदूरों को घर में बैठ कर अपना जीवनयापन करना मुश्किल हो गया था। दैनिक मजदूरों के रोजी-रोटी को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन में संशोधन कर मनरेगा कार्य की शुरुआत की है। मनरेगा कार्य शुरू होते ही मजदूरों के चेहरे पर जैसे खुशी लौट आई है।



इसी क्रम में सिटी ब्लाक क्षेत्र के ग्राम सभा गोपालपुर के सभी मौजा मे मनरेगा योजना के तहत विभिन्न कार्य चल रहा है। खेत मे समतली करण करते समय मजदूर बन्टी ने बताया की पहले हम अपने बच्चो संग खेल दिखाकर जीवन यापन करते थे। अब गाँव मे काम मिल गया है तो रिक्स लेकर खेल दिखाने की कोई जरूरत नही है। अब हम गाँव मे काम करेंगे। वही मजदूर सुनीता ने बताती है की सरकार का यह मंशा सराहनीय है, पहले हम लोग गाँव मे जाकर भीख मांग कर जीवन यापन कर रहे थे। अब हमे भीख मागने की कोई जरूरत नही पड़ेगा। अगर इसी तरह काम मिलता रहा तो हम सब काम कर के ही जीवन यापन करेंगे। पहले हम सब को काम ही नही मिलता था। गाँव मे अब 1 महीने से नये प्रधान हुये है। सब का जाबकार्ड बनवाया दिये है।



ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रणविजय उर्फ रिन्कु सिंह ने बताया की यह काम ग्राम प्रधान द्वारा हमे कराने के लिये सौपा गया है। यह हमारे देखरेख मे चल रहा है। अभी कुछ महीने पहले ग्राम प्रधान शिवलोचन मौर्या का बीमारी से मौत हो गया था, जिससे यह सीट खाली पड़ा था। जिसको संज्ञान मे लेते हुये वार्ड सदस्य सुरेश मौर्या को प्रधान पद दिया गया है। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि श्री सिंह के अनुसार इसके पहले ग्राम सभा मे एक्टिव जाबकार्ड 63 था, सुरेश मौर्या को ग्राम प्रधान बनने के बाद 417 कार्ड बना दिया गया है। जिसमे इस समय 317 मजदूर प्रतिदिन काम कर रहे है और सब काम पाकर काफी खुश है।



वही पंचायत भर में चल रहे कार्यों में यह सुनिश्चित किया जा रहा है की मजदूर कार्यस्थल पर सामाजिक दूरी का पालन करे तथा मुंह को मास्क या कपड़े से ढक कर रख्खे। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि श्री सिंह ने बताया की सरकार का मन्सा के अनुरूप योजनाओं को अविलंब शुरु किया गया और अधिक से अधिक मजदूरों को रोजगार मिलने प्रक्रिया शुरू हो गया है। सरकार मजदूरों को 202 रुपये रोज के हिसाब से मजदूरी दी जाती है।


वीडियो देखे :



Comments