Mirzapur : चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती कर गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशुओं की सेवाओं में लाये तेजी


प्रमुख सचिव ने सीएमओ समेत जनपद के सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को दिया आदेश


रिपोर्ट : टी0सी0 विश्वकर्मा


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ओ0पी0तिवारी ने बताया कि प्रमुख सचिव ने प्रदेश के समस्त मुख्य चिकित्साधिकारियों को भेजे गये पत्र द्वारा निर्देशित किया है कि क्रियाशील एफ0आर0यू0 को कोविड एल-01समकक्ष चिकित्सालयों में परिवर्तित किया गया है, उन क्रियाशील एफ0आर0यू0 चिकित्सालय के समीपस्थ चिकित्सालय (सी0एच0सी0/पी0एच0सी0) को चिन्हित करते हुए उक्त चिन्हित चिकित्सालयों में एफ0आर0यू0 की समस्त सेवाएं पूर्व की भांति संचालित करना सुनिश्चित करें। भविष्य में क्रियाशील एफ0आर0यू0 को कोविड अस्पताल में चिन्हित न किया जाय।


उत्तर प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना वायरस(कोविड-19) महामारी के दृष्टिगत क्रियाशील प्रथम सन्दर्भन इकाई (एफ0आर0यू0) जहां पर विगत समय में प्रसव की सेवाओं के साथ सी-सेक्शन की सेवाएं संचालित की जा रही थी, जिस कारण क्रियाशील एफ0आर0यू0 में प्रसव एवं सिजेरियन सेक्शन की सुविधाओं का लाभ गर्भवती महिलाओं एवं नवजात शिशुओं को नही मिल पा रहा है।


कोविड समर्पित चिकित्सालयों में सम्बद्ध किये गये एल0एस0ए0एस0 चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ जिनके द्वारा पूर्व में क्रियाशील एफ0आर0यू0 में तैनात रहकर सेवाएं प्रदान की जा रही थी, उन्हें तात्कालिक प्रभाव से अवमुक्त करते हुए उनके स्थान पर अन्य सम्बन्धित चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ को चिन्हित करते हुए कोविड समर्पित चिकित्सालयों में तैनात करना सुनिश्चित करें। क्रियाशील एफ0आर0यू0 चिकित्सालय में पूर्व में कार्यरत चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती सुनिश्चित किया जाय जिससे एफ0आर0यू0 में संचालित सिजेरियन सेक्शन व प्रसव संबधी समस्त सुविधायं जनमानस को पूर्व की भांति ही उपलब्ध कराते हुए प्रदेश में मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम किया जा सके।  वर्तमान समय में कोविड एल-01 समकक्ष जनपद के 9 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व 45 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के अलावा 186 सबसेन्टरों को भी चिकित्सालय में परिवर्तित कर दिया गया है।


Comments