Mirzapur : अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक मानवाधिकार की शिकायत पर हुई कार्रवाई क्लीनिक पर लगा नोटिस


रिपोर्ट : कमलेश मौर्या


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : मड़िहान तहसील क्षेत्र में 18 मई को झोलाछाप डॉक्टर के लापरवाही से हुई 15 वर्षीय दलित बेटी नीलम के मौत के बाद समाचार पत्रों में प्रमुखता से समाचार प्रकाशित होते ही अंतर्राष्ट्रीय न्यायिक मानवाधिकार संरक्षण के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुनील पाण्डेय राजनेता ने दीपनगर पटेहरा के दर्जनों झोलाछाप डॉक्टरो के अस्पताल के रजिस्ट्रेशन व डिग्री की जांच कराने हेतु लिखित शिकायती पत्र मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी, अपर निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विंध्याचल मण्डल को सौंपा था। जिस पर मुख्य चिकित्साधिकारी ओपी तिवारी के निर्देश पर मंगलवार दोपहर क्षेत्र के कमलापुर में संचालित आदर्श क्लीनिक पर नोटिस चस्पा किया गया। नोटिस चस्पा करने पहुँचे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी डॉक्टर वाजीद जमील तो उक्त डॉक्टर शटर गिराकर मौके से फरार हो गया। नोटिस के माध्यम से बताया कि अपनी शैक्षिक योग्यता, उपाधि एवं पंजीकरण प्रमाण पत्र की मूल प्रति तथा उनकी प्रमाणित छाया प्रति के साथ तीन दिन के अन्दर कार्यालय में उपस्थित हो यदि नोटिस की अवहेलना की गयी तो इंडियन मेडिकल डिग्री एक्ट 7 ऑफ 1916 अथवा काउंसिल एक्ट 102 आफ 1956 के उल्लंघन अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी। नोटिस चस्पा होते ही अन्य झोलाछाप डॉक्टरों में हड़कम्प मच गया।


Comments