लॉकडाउन में राहत के बाद मार्केट में तेजी कायम


मुंबई : सरकार की ओर से लॉकडाउन के नियमों में छूट की घोषणा के बाद लगातार चौथे दिन भारतीय शेयर बाजार ऊपर बंद हुए। अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए घोषित उपायों के बीच, निफ्टी 2.57% या 245.85 अंक चढ़कर 9826.15 पर बंद हुआ, जबकि सेंसेक्स 2.71% या 879.42 अंक की बढ़त के साथ 33,303.52 पर बंद हुआ।


एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के प्रमुख सलाहकार अमर देव सिंह ने बताया के सभी सेक्टोरल सूचकांक पॉजीटिव नोट पर बंद हुए। बीएसई स्मॉलकैप और मिडकैप 2-3 प्रतिशत के बीच चढ़े। शीर्ष बीएसई गेनर्स में आईडीबीआई बैंक (19.95%), पीईएल (15.07%), वोल्टास (12.45%), बजाज फाइनेंस (10.62%) शामिल हैं। हालांकि, बीएसएनएल के सबसे बड़े शेयरों में अजंता फार्मा (4.64%), बेयर क्रॉपसाइंस लिमिटेड (4.13%), पेट्रोनेट एलएनजी (3.35%), डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज (2.92%) और आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस (2.53%) शामिल हैं।


घरेलू इक्विटी बाजार में खरीदारी से भारतीय रुपए को इंट्रा-डे में मिला लाभ बेकार हो गया लेकिन इसके बाद भी जब बाजार बंद हुआ रुपया 75.45 रुपए प्रति डॉलर पर बंद होकर उच्च पर रहा।


देश ने लॉकडाउन के पांचवें चरण में प्रवेश किया और इस दौरान देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने मई में 13,865 कारों की बिक्री की सूचना दी। इससे कंपनी के शेयर की कीमत में 2.62% की वृद्धि हुई है और वर्तमान में यह 5758 रुपए पर कारोबार कर रहा है।


कंपनी द्वारा एक्सचेंजों से अपने शेयर को हटाने पर विचार करने के बाद अदानी पावर शेयर की कीमत में 9.20% की वृद्धि देखी गई। जो शेयर बीएसई पर 39 रुपए पर कारोबार कर रहा था, वह 7.4% या 2.65 की बढ़त के साथ बंद हुआ। यह 40 रुपए के इंट्राडे पर हाई पर ही ओपन हुआ था। आखिर में शेयर 39.75 रुपए पर बंद हुआ।


पॉजीटिव ग्लोबल सेंटीमेंट्स:


कुछ प्रतिबंधों के साथ संचालन बहाल करने वाली अर्थव्यवस्थाओं के साथ वैश्विक बाजार ने भी पॉजीटिव प्रतिक्रिया दी। इस वजह से भारतीय शेयर बाजार, वैश्विक बाजार के साथ तालमेल दिखाते हुए पॉजीटिव नोट पर बंद हुआ। प्रमुख बाजार सूचकांकों ने बैंकिंग सूचकांक के साथ पॉजीटिव ट्रेंड दिखाया जिससे बाजार में तेजी आई। निक्केई-225 में 0.81%, हैंग सेंग में 3.36% और एफटीएसई एमआईबी में 1.00% की बढ़त दर्ज हुई।


Comments