कोरोना (कोविड-19) लॉकडाउन के दौरान आयोजित सराहनीय एवं प्रेरणादायी कार्यक्रम


रिपोर्ट : शांति देवी


मुंबई : कोरोना (कोविड-19) महामारी तथा लॉकडाउन के दौरान इस भयावह परिस्थिति में क्या करें.. क्या न करें... ऐसे हालात लोगों के सामने निर्माण हुए। ऐसी परिस्थिति में लोगों को तनाव मुक्त बनाने के उद्देश्य से "हिंदी अकादमी, मुंबई" तथा "साक्षात एंटरटेनमेंट, मुंबई"  ने लोगों को एक साथ जोड़ने का प्रयत्न करते हुए विविध कार्यक्रमों का ऑनलाइन आयोजन किया।


हिंदी निबंध लेखन प्रतियोगिता :


कलाजिवन बहुद्देशीय पेन्टिंगस प्रतियोगिताओं में सात सौ बच्चों ने भाँग लिए 50 बच्चों को विजेता पुरस्कार राम कुमार पाल साछात एंटरटेनमेंट द्वारा एवम संस्था द्वारा सर्वप्रथम हिंदी निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया। जिसमें देशभर के अनेकों हिंदी प्रेमियों एवं लेखकों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया। इस प्रतियोगिता में विजेता प्राप्त प्रतिभागियों को प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया गया।


सुलेखन एवं चित्रकला प्रतियोगिता :


"हिंदी अकादमी, मुंबई" के संरक्षक रामकुमार पाल जी के मार्गदर्शन में लॉक डाउन के दौरान बच्चों के लिए भी कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें सुलेखन एवं चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन किया गया लोगों ने इसमें बढ़-चढ़कर अपने बच्चों को प्रतिभागी बनाया। विजेता प्रतिभागी बच्चों को पुरस्कृत किया गया।


स्वरचित काव्य लेखन प्रतियोगिता :


संस्था द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर 'स्वरचित काव्य लेखन प्रतियोगिता' का आयोजन किया गया। जिसमें कुल 92 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया और अपनी स्वरचित रचनाएं ऑनलाइन ( गूगल फॉर्म के माध्यम से) भेजकर अपनी प्रतिभागिता दर्ज की। जिसका परिणाम दिनांक: 5 जून 2020 को डॉ. अमरीश सिन्हा (हिंदी विभाग प्रमुख- द न्यू इंडिया एश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, मुंबई) की अध्यक्षता में घोषित किया गया। प्रथम, द्वितीय, तृतीय तथा प्रोत्साहन पुरस्कार प्राप्त कुल 28 विजेताओं को प्रमाण-पत्र वह स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया तथा अन्य सभी प्रतिभागियों को प्रतिभागी प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया। इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए डॉ. अमरीश सिन्हा जी ने अपने वक्तव्य में 'हिंदी अकादमी, मुंबई' तथा सभी आयोजकों को धन्यवाद देते हुए सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देते हुए उन्हें प्रोत्साहित किया। ऐसे हालात में भी ऑनलाइन कार्यक्रम का सफल आयोजन करने से लोगों में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ।


संस्था के डॉ. प्रमोद पांडेय ने सभी विजेता प्राप्त प्रतिभागियों शुभकामनाएं दी निर्णायक की भूमिका के रूप में दिल्ली से श्रीमती भावना अरोरा जी के साथ जमशेदपुर से डॉ. उमा सिंह जी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस कार्यक्रम में संस्था के संरक्षक श्री राम कुमार पाल जी का योग्यता निखारने के हर मौके को अवसर में लाए ऐसी सोच को ङा प्रमोद पांडे अथक प्रयास से ऑनलाइन आयोजित इस कार्यक्रम के अंत में श्री सतीश धुरी (हिंदी विभाग प्रमुख- राजभाषा विभाग, कोंकण रेलवे) ने सभी लोगों का धन्यवाद किया।


हास्य कवि सम्मेलन :


कोरोना संकटकाल के इस दौर में तनाव को कम करने के लिए 'हिंदी अकादमी, मुंबई' तथा 'साक्षात एंटरटेनमेंट'  के संयुक्त तत्वाधान में 7 जून 2020 को 'हास्य कवि सम्मेलन' का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजन किया। जिसमें भारत और नेपाल से अनेक कवि एवं कवयित्री शामिल हुए। सभी ने बड़े ही रोचक एवं आकर्षक ढंग से अपनी रचनाएं ऑनलाइन प्रस्तुत की।


इस कार्यक्रम में डॉ. करुणाशंकर उपाध्याय (प्राध्यापक एवं हिंदी विभागाध्यक्ष- मुंबई विश्वविद्यालय) ने अपना उद्घाटन वक्तव्य प्रस्तुत किया। उन्होंने अपने वक्तव्य में  'हिंदी अकादमी, मुंबई' द्वारा आयोजित हो रहे कार्यक्रमों  की सराहना करते हुए इस कवि सम्मेलन में उपस्थित कवियों को बधाई दी तथा प्रोत्साहित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे श्री बी. बी. मिस्त्री जी (भूतपूर्व सैनिक तथा अध्यक्ष- भूतपूर्व सैनिक संगठन) ने अपने वक्तव्य में इस कार्यक्रम की सराहना की तथा भविष्य में इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित होते रहे, ऐसा सुझाव उन्होंने दिया तथा सभी कवियों की कविताओं की खूब सराहना भी की। 
श्री संजीव निगम (शोध निदेशक- हिंदुस्तानी प्रचार सभा) ने ऑनलाइन मंच का सफल संचालन किया और उन्होंने बड़ी जवाबदारी के साथ सभी आमंत्रित कवियों का परिचय कराते हुए उन्हें अपनी रचनाएं पढ़ने के लिए आमंत्रित किया और प्रोत्साहित भी किया।


कार्यक्रम के दौरान श्री रामकुमार पाल (अध्यक्ष- साक्षात एंटरटेनमेंट) ने सभी कवियों एवं आयोजकों की तारीफ की तथा आपने कुछ सुझाव भी रखे। हिंदी अकादमी, मुंबई सेमन पुर्वक आभार व्यक्त किया डा प्रमोद पांडे अथक प्रयास से 
डॉ. अमरीश सिन्हा, डॉ. दर्शन पांडेय, श्री सतीश धुरी, श्री जितेंद्र तिवारी, डॉ. शिवम तिवारी, शिखा जैन, पूजा साहू आदि ने इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना योगदान प्रदान किया।


इस कवि सम्मेलन में डॉ. श्वेता दीप्ति (नेपाल), श्रीमती भावना अरोरा (दिल्ली), डॉ. उमा सिंह किसलय (जमशेदपुर), श्री रवि यादव (मुंबई), श्री पीयूष शुक्ला (मुंबई), श्री अमरनाथ मूर्ति (मुंबई), श्री अभिजीत त्रिपाठी (अमेठी- उत्तर प्रदेश) श्री अविनाश त्रिपाठी (जयपुर) श्री बृजेंद्रनाथ द्विवेदी (वाराणसी) सुश्री काजल चौधरी (मुंबई) आदि ख्याति प्राप्त कवि व कवयित्री आमंत्रित किए गए थे। सभी रचनाकारों ने अपनी रचनाओं से सभी श्रोताओं का मन मोह लिया।


कार्यक्रम के अंत में श्री आलोक चौबे जी ने आभार प्रदर्शन किया। इसके उपरांत अध्यक्ष श्री बी. बी. मिस्त्री जी ने कार्यक्रम के अंत में कहा कि 'इस प्रकार देश के सैनिकों का उत्साहवर्धन करने के लिए तथा नौजवानों को प्रेरणा देने के लिए देश प्रेम से संबंधित कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाना चाहिए।' उनके इस प्रस्ताव को सभी लोगों ने अपना समर्थन दिया और स्वीकार किया।


'कोरोना योद्धा' तथा 'मानव सेवा' :


कोरोनावायरस (कोविड19) के इस संकट की घड़ी में समाज में जिन लोगों ने सराहनीय कार्य किया, उन्हें संस्था 'कोरोना योद्धा' तथा 'मानव सेवा' सम्मान पत्र देकर सम्मानित कर रही है।


Comments