एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया द्वारा पुराने अप्वाइंटमेंट-मरीजों को 25 जून से दो दिन पहले कॉल के जरिए बुलाकर ओपीडी में देखने के निर्देश किए जारी


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : वैश्विक-महामारी के चलते लॉकडाउन दौरान से दिल्ली के सबसे बड़े अस्पताल (एम्स) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने भयंकर-महासंक्रमण स्थिति को मद्देनजर रखते हुए अस्पताल की ओपीडी कुछ दिन के लिए स्थगित कर दी थी फिर थोड़े दिन बाद एम्स-निदेशक रणदीप गुलेरिया द्वारा सुगमता तहत मरीजों की सेहत को ध्यान में रखते हुए टेली-कंसल्टेशन ओपीडी शुरू की गई थी जिसमें मरीज अपनी बीमारी संबंधित डॉक्टर से फोन पर स्वास्थ्य जानकारी का आदान-प्रदान कर सकते थे।



आज एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया अनुसार मरीजों को स्वास्थ्य संबंधित हो रही असुविधा के चलते पहले चरण में एम्स के पुराने मरीज जिनका अपॉइंटमेंट फिक्स था को हर मेडिकल-विभाग द्वारा अपने तरीके से कंप्यूटर के माध्यम या टेलीकंसल्टेशन के जरिए दो दिन पहले मरीजों को ओपीडी में दिखाने की जानकारी उसके नंबर पर फोन कॉल द्वारा दे दी जाएगी ताकि डॉक्टरों के पास मरीज की सूची 48 घंटे पहले जारी रहे,अभी शुरुआती दिनों में एक दिन की ओपीडी में लगभग उन्ही प्रंदह मरीजों को देखा जा सकेगा जिनको ओपीडी में दिखाने के लिए बुलाया गया होगा थोडे दिन बाद में स्थिति अनुसार (एम्स) मे ओपीडी-सेवाओं को नए मरीजों के अप्वाइंटमेंट हेतु खोल दिया जाएगा बता दे,तीन महीने से पहली बार देश के सबसे बड़े अस्पताल ने जनता के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए अपनी ओपीडी को लॉकडाउन के पहले चरण से ही स्थगित कर दिया था ।


Comments