द्वारका : स्पेशल स्टाफ ने एक कुख्यात आरोपी हत्यारे को पिस्तौल व चार जिंदा कारतूस के साथ किया गिरफ्तार


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : डाबरी पुलिस को 20 मई शाम साढे छह बजे के करीब सूचना सूचना मिली कि सीतापुरी इलाके में फायरिंग हुई है। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल पर देखा गोली लगने से एक युवक गौरव उर्फ काकू की मौत हो चुकी थी, दुसरे घायल विक्की उर्फ टक्कर को पुलिस ने आनन-फानन में पास के अस्पताल में पहुंचाया। मौके पर मौजूद गवाहो अनुसार तीन लोगो ने मिलकर विक्की और गौरव पर खुलेआम गोलियां चलाते हुए मौके से फरार हो गए हैं।



शिकायत दर्ज होते द्वारका ऑप्रेशन एसीपी जोगिंद्र सिंह जून के दिशा-निर्देशन में स्पेशल-स्टाफ इंस्पेक्टर नवीन कुमार की अगुवाई में एसआई रंजीत त्यागी, महेंद्र,बिजेंद्र,एसआई उमेश, सिपाही जितेंद्र, उपेंद्र, रवि, संदीप कलभूषण व मनोज की टीम ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगालते हुए अपने सूचना तंत्र माध्यम से जानकारी जुटानी शुरू की। लाॅकडाउन के दौरान हुए इस हत्या केस को मद्देनजर रखते हुए द्वारका स्पेशल स्टॉफ अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए लगातार गश्त लगा रही थी। इसी बीच पुलिस को गुप्त-सूचना मिली कि हत्यारा दादा देव अस्पताल के न्यू द्वारका नाला रोड पर आने वाला है। स्पेशल स्टाफ टीम ने बिना समय गवाए तुरंत कार्यवाही करते हुए इलाके मे जाल बिछाकर घेराव करके कुख्यात-आरोपी को एक सोफिस्टिकेटेड पिस्तौल व चार जिंदा कारतूस सहित अपनी गिरफ्त में लिया।


द्वारका-उपायुक्त अटो अलफोंस अनुसार पकड़े गए हत्यारे-आरोपी की पहचान गुलफाम उर्फ गुल्लू नरेला नई दिल्ली से पुलिस रिकॉर्ड मुताबिक आरोपी पहले से हत्या,किडनैपिंग जैसे कई घृणित मामलों में लिप्त है। इस पर राजस्थान व दिल्ली में कई मामले दर्ज हैं। अभी कुछ दिन पहले यह मई में जेल से छूट कर आया था। कड़ी-पूछताछ दौरान आरोपी ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया उसकी मुलाकात कुछ साल पहले जेल में एक नीतीश तिवारी नाम के आरोपी से हुई थी। गुलफाम दिल्ली एनसीआर का एक बडा डॉन बनना चाहता था। नीतीश ने गौरव व विक्की को मारने के लिए उसको एक लाख की सुपारी देने का वादा किया था। उसने नीतीश के इलावा अपने साथी अंकित के साथ मिलकर गौरव व विक्की पर खुलेआम फायरिंग की थी। पुलिस द्वारा आर्म्स-एक्ट, 302/307/34 व लॉकडाउन-उलघंना महामारी अधिनियम तहत मामला दर्ज कर अन्य दो फरार हत्यारों की तलाश करते हुए गहन-तफ्तीश मे जुटी है।


Comments