द्वारका नॉर्थ पुलिस क्रैक टीम ने पेट्रोल पंप लूटपाट को किया नाकाम, चार लूटेरो को पिस्तौल, जिंदा कारतूस व चोरी की सेंट्रो कार सहित दबोचा


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : द्वारका नॉर्थ टीम को दोपहर दो बजे के करीब गुप्त-सूचना मिली कुछ लोग हथियारों के साथ किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के इरादे से भरत विहार इलाके में आ रहे हैं। सूचना को मद्देनजर रखते हुए द्वारका एसीपी राजेंद्र सिंह यादव के दिशा-निर्देशन मे एसएचओ संजय कुंडू की अगुवाई में बनी क्रैक टीम के एसआई वीर सिंह, हवलदार विरेन्द्र, जितेंद्र, कुलदीप, राजेंद्र, वीरेंद्र, सिपाही राजू, प्रमोद, सुनील, रितेश ने सेक्टर 14 मेट्रो-स्टेशन पर जाल बिछाया। तभी तीन बजे के करीब ककरोला गांव की तरफ से बिना नंबर-प्लेट एक सेंट्रो-कार को आते देखा गया। सूचनाधारक द्वारा इशारा करते ही पुलिस ने जैसे हीं गाड़ी को रूकने का सिग्नल दिया। गाड़ी के अंदर बैठे चार लड़कों ने गाड़ी को रोकने की बजाए उसे तेज-रफ्तार से दौड़ा लिया। पहले से जाल-बिछाए बैठी पुलिस ने महज कुछ दूरी पर घेराव करते हुए। मुस्तैदी-पूर्वक चारो बदमाशों को दबोच लिया।  मौके पर ली गई तलाशी के दौरान लुटेरों से दो सोफिस्टिकेटेड दो कंट्री मेड पिस्तौल व नौ जिंदा कारतूस, एक बटनदार चाकू व चोरी की गई सेंट्रो-कार को जब्त करते हुए चारों आरोपियों को हिरासत में ले लिया।



द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस अनुसार पकड़े गए आरोपियों मे से एक नकुल चौहान उम्र (20), सोनु उम्र (19), शिवम उम्र (20), इमरान उम्र (19) चारों आरोपी बहादुरगढ़ हापुड के रहने वाले हैं। कड़ी पूछताछ दौरान चारों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया। आरोपी नकुल ने दो साल पहले द्वारका सेक्टर17, आईपी यूनिवर्सिटी (एच.पी) पेट्रोल-पंप पर हेल्पर के तौर पर तीन महीने काम किया था। इस दौरान उसने देखा रविवार को अवकाश होने की वजह से बैंक बंद रहने के कारण सोमवार तक काफी रकम इकट्ठा हो जाती थी। नकुल ने यह सारी बातें अपने साथियों से बताई इन्होने सोमवार को लूटपाट करने का इरादा बनाया।


इस वारदात का मुख्य कुख्यात आरोपी राबिन जिस पर हत्या, लूटपाट, आर्म्स एक्ट और गैंगस्टर-एक्ट के पांच मामले पहले से दर्ज हैं। रॉबीन ने आरोपी नकुल के साथ मिलकर पुलिस द्वारा जब्त की गई चोरी की सेंट्रो कार को के.एन काटजू मार्ग से 2019 मे चुराया था। आरोपी राबिन 26 मार्च 2020 को पुलिस एनकाउंटर दौरान यूपी पुलिस के आगे खुद सरेंडर करते हुए जेल चला गया। मास्टरमाइंड राबिन द्वारा गांव के आगामी चुनाव में सरपंच का चुनाव लड़ने के लिए पैसा इकट्ठा करने के इरादे से उसके द्वारा बताए गए प्लान मुताबिक चारों-आरोपी द्वारका सेक्टर-17 पेट्रोल-पंप पर लूटपाट करने के इरादे से आए थे। लेकिन वारदात को अंजाम देने से पहले पुलिस-सतर्कता के चलते द्वारका नॉर्थ पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस द्वारा चारों आरोपियों के खिलाफ आर्म्स-एक्ट,आईपीसी धारा के तहत मामला दर्ज कर अभी गहन-तफ्तीश जारी है, ताकि पता लग सके आरोपित-लूटेरो ने इससे पहले अन्य कितनी लूटपाट वारदातों को अंजाम दिया है। इस तरह पुलिस ने सार्थक-कार्यवाही तहत द्वारका जिले के अंदर एक बड़ी लूटपाट-वारदात को होने से बचाया। बता दें द्वारका नॉर्थ पुलिस अपनी सतर्क व चौकस कार्यशैली के चलते द्वारका जिले के अंदर क्राइम-कंट्रोल पर पूरी तरह से लगाम कसने में काफी हद तक कामयाब रही है। डीसीपी के अनुसार हमारे द्वारका की सभी पुलिस टीमे में अपनी कार्यशैली को बखूबी अंजाम देती आ रही हैं। उन्होंने जिले के सभी पुलिस टीमो को बधाई का पात्र बताया।


Comments