Delhi : पुलिस ने अवैध-तरीके से रहते आ रहे अफ्रीकन नाइजीरियन को पचास लाख एम्फैटेमिन-ड्रग्स के साथ पकड़ा


रिपोर्ट : अनीता गुलेरिया


दिल्ली : जिला द्वारका के मोहनगार्डन इलाके में काफी संख्या में मौजूद अफ्रीकी मूल निवासी लोगों द्वारा नशीले पदार्थ ड्रग्स सप्लाई को लेकर चौकसी पूर्वक कार्यवाही करते हुए निरंतर धरपकड़ जारी है। कल मोहन गार्डन पुलिस क्रैक टीम को रात मे मोटरसाइकिल पेट्रोलिंग करते हुए एक सूचना धारक ने बताया की मोहन गार्डन इलाके में एक अफ्रीकन निवासी द्वारा सक्रिय रूप से ड्रग्स-सप्लाई की जा रही है। टीम ने सतर्कता पूर्वक इस स्थिति की सही जानकारी जुटाते हुए उच्च अधिकारियों को बताया। तदोपरंत नजफगढ़ एसीपी विजय सिंह के दिशा निर्देशानुसार एसएचओ की अगुवाई में क्रैक-टीम जिसमें एसआई सुभाष, सिपाही राजेश, सुशील, अजय, अश्वनी को तुरंत मौके पर रेडिंग के लिए भेजा गया।


पुलिस टीम द्वारा की गई छापेमारी दौरान नाइजीरियन ड्रग्स-सप्लायर पुलिस की भनक लगते ही मौके से फरार होने की कोशिश करने लगा। लेकिन पहले से जाल-बिछाए बैठी पुलिस ने घेराव करते हुए उसे दबोच लिया। मौके पर ली गई तलाशी दौरान आरोपी युवक से प्लास्टिक पाउच में सफेद रंग का पाउडर मिला। जांच करने पर पता चला वह एम्फैटेमिन ड्रग्स है। जिसकी मात्रा लगभग 100 ग्राम थी। ड्रग्स बरामद होते ही पुलिस ने अफ्रीकी मूल निवासी को हिरासत में ले लिया।द्वारका उपायुक्त अंटो अलफोंस अनुसार पकड़े गए आरोपी नशा तस्कर का नाम डार्लिंनो ओजूस उम्र (26) विदेशी नाइजीरियन मूल निवासी है। उम्दा किस्म की बरामद इस एम्फैटेमिन ड्रग्स की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में पचास लाख है। पुलिस की कड़ी पूछताछ दौरान आरोपित नशा तस्कर ने अपना जुर्म कबूलते हुए बताया कि वह भारत में फरवरी 2019 में व्यापार वीजा पर आया था। वीजा अवधि समाप्त होने के बावजूद छह महीने से अवैध तरीके रहते हुए वह ड्रग्स सप्लाई कर रहा था। आरोपी तस्कर के साथ उसकी कुछ महिलाएं दोस्त भी इसमें सम्मिलित थी। वह जल्दी और ज्यादा पैसा कमाने के लिए ड्रग्स-सप्लाई का धंधा कर रहा था। मोहन गार्डन पुलिस द्वारा एनडीपीएस एक्ट व 14 विदेशी एक्ट तहत मामला दर्ज करते हुए आगे की गहन तफ्तीश में जुट गयी है।


बता दें जिला द्वारका डीसीपी की कमांड में चल रही विशेषकर नशा तस्करी मुहिम पर काम करते हुए जिला द्वारका पुलिस अब तक कई करोड़ों की एम्फैटेमिन ड्रग्स बरामद कर चुकी है, जो अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि व अति सराहनीय योग्य है। द्वारका डीसीपी अंटो अलफोंस ने बताया इस इलाके में अवैध नशा-तस्करी को पूरी तरह से खत्म करने के लिए हम वचनबद्ध है। हमारी पुलिस टीम पूरी सतर्कता से अपने इस अभियान को सार्थक-रूप से अंजाम देने में लगी है। उन्होंने समस्त-द्वारका पुलिस टीम को इसके लिए बधाई का पात्र बताया है।


Comments
Popular posts
‘श्रीयम न्यूज नेटवर्क’ की प्रतियोगिता ‘मां की ममता’ का परिणाम घोषित, आलेख वर्ग में रीता सिंह तो काव्य वर्ग में अंजू जांगिड़ ने मारी बाजी
Image
रिपब्लिकन पार्टी के कार्यकर्ताओं को दुध एल्गर आंदोलन में शामिल होना चाहिए - केंद्रीय राज्य मंत्री रामदास आठवले
Image
मुंबई के गोवंडी इलाके में गरीबी से परेशान एक गरीब मजदूर ने फांसी लगाकर की आत्महत्या.
Image
विश्व कल्याण हेतु अखंड रामायण पाठ का आयोजन
Image
बाल विकास विभाग की कारगर योजनाओं से ही कुपोषण से मिला मुक्ति, 2668 केन्द्रों पर पौष्टिक आहार के लिए बच्चों, महिलाओं व किशोरियों में आ रही जागरूकता
Image