भारतीय बाजारों ने ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में अपना लाभ गंवाया


मुंबई : भारतीय शेयर बाजारों में लगातार 6-दिन से आगे बढ़ने का सिलसिला गुरूवार को टूट गया और निफ्टी व सेंसेक्स दोनों अस्थिर कारोबारी सत्र की वजह से नीचे आ गए। सेंसेक्स 0.38% या 128.84 अंकों की गिरावट के साथ 33980.70 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 0.32% या 32.45 अंक की गिरावट के साथ 10029.10 पर बंद हुआ। हालांकि, राहत की बात यह है कि यह अभी भी 10,000 अंक से ऊपर बना हुआ है। देश में फिर से शुरू की गई आर्थिक गतिविधियों के बावजूद सूचकांकों में गिरावट का अनुभव किया गया।


एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के प्रमुख सलाहकार अमर देव सिंह ने बताया के, 'पीएनबी को छोड़कर अधिकांश बैंकिंग शेयरों में गिरावट देखी गई। पीएनबी में 2.48% की वृद्धि देखी गई। एचडीएफसी बैंक के शेयर में 2.67%, बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयर में 0.46%, एसबीआई के शेयर में 0.23% और आईसीआईसीआई बैंक के शेयर में 2.42% की गिरावट आई है। लगभग 1132 शेयरों में गिरावट आई, जबकि 1287 शेयर लाभ के साथ बंद हुए। वहीं,156 शेयर अपरिवर्तित रहे।


वेदांता (7.70%), टेक महिंद्रा (5.20%), ज़ी एंटरटेनमेंट (5.52%), भारती एयरटेल (5.73%), और सन फार्मा (4.17%) दिन के लिए महत्वपूर्ण व्यक्तिगत गेनर्स में से थे। दूसरी ओर, एशियन पेंट्स (4.64%), बजाज फाइनेंस (4.04%), इंडसइंड बैंक (3.57%), एचडीएफसी बैंक (2.67%), और कोटक महिंद्रा बैंक (3.54%), टॉप मार्केट लूजर्स साबित हुए। निफ्टी बैंक, जिसमें 2% की गिरावट दर्ज की गई, सभी सेक्टर इंडेक्स हरे रंग के साथ बंद हुए।


ग्लोबल मार्केट्स: कोरोनोवायरस महामारी के निरंतर खतरे के कारण यूरोपीय स्टॉक गिरावट के साथ खुले। अमेरिका में विरोध प्रदर्शन ने निवेशकों के बीच नकारात्मक भावनाओं को भी हवा दी। वैश्विक शेयर बाजार तीन दिन की बढ़त के साथ आगे बढ़े। वैश्विक शेयर बाजार में वृद्धि देखी गई क्योंकि ज्यादातर देशों ने अपनी आर्थिक गतिविधियों को फिर से शुरू किया। नैस्डैक में 0.78%, निक्केई 225 में 0.36% और हैंग सेंग में 0.17% की वृद्धि हुई जबकि एफटीएसई एमआईबी में 0.88% की गिरावट आई।


Comments