अतिक्रमण से बचाएं सार्वजनिक स्थल : हाईकोर्ट


रिपोर्ट : एडवोकेट विनीत दूबे


प्रयागराज, (उ0प्र0) : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सार्वजनिक स्थलों तथा धार्मिक अनुष्ठानों के लिए आरक्षित भूमि को किसी भी तरह के अतिक्रमण से बचाने के लिए संबंधित जिलाधिकारी और नगर पालिका को त्वरित कार्यवाही का आदेश दिया है। फिरोजाबाद जिले के याची अविनाश गुप्ता ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की थी। जिसके अनुसार गाटा नंबर 1206 और 1054 के अंतर्गत 0.142 हेक्टेयर का क्षेत्र अंत्येष्टि जैसे धार्मिक अनुष्ठानों के लिए और सार्वजनिक स्थल के रूप में आरक्षित है। लेकिन यह क्षेत्र कुछ समय से भू- माफियाओं द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा है। संबंधित नगरपालिका को सूचित करने के बाद भी नगरपालिका की ओर से कोई उचित कार्यवाही नहीं की गई।


न्यायमूर्ति पंकज मित्तल एवं न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने याचिका पर विचार करते हुए कहा कि धार्मिक एवं सार्वजनिक  स्थलों को अतिक्रमण से बचाने के लिए सरकार ने 1 मई 2017 को  नियम व आदेश पारित किये हैं। अतः सरकारी नियम व निर्देशानुसार धार्मिक एवं सार्वजनिक स्थलों को भू- माफियाओं द्वारा अतिक्रमण से बचाने के लिए जिला मजिस्ट्रेट इस संबंध में उचित कार्यवाही करें।


Comments