स्टॉक मार्केट्स ने दर्ज की इस महीने की सबसे बड़ी वृद्धि


मुंबई : बैंकिंग शेयरों की रैली के दम पर आज बेंचमार्क सूचकांकों ने 3% से अधिक की बढ़त हासिल की। एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 995.92 अंक या 3.25% बढ़कर 31605.22 पर और निफ्टी 285.90 अंक या 3.71% बढ़कर 9314.95 पर बंद हुआ और इसके साथ ही निफ्टी-50 इंडेक्स ने 9,300 के ज़ोन में पहुंचने में कामयाबी हासिल की। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के प्रमुख सलाहकार श्री अमर देव सिंह ने बताया के कारोबारी दिन की समाप्ति पर करीब 939 शेयरों के मूल्य में गिरावट दर्ज हुई, लेकिन 1,363 शेयर हरे रंग के साथ बंद हुए। 163 शेयर्स के मूल्य में कोई बदलाव नहीं हुआ।


फार्मा इंडेक्स में मामूली गिरावट आई, जबकि निफ्टी बैंक के साथ-साथ आईटी, मेटल और एनर्जी क्षेत्रों के इंडेक्स ने भी छलांग लगाई। सेंसेक्स के टॉप गेनर्स में एक्सिस बैंक (7%) और आईसीआईसीआई बैंक (5%) और उसके बाद कोटक महिंद्रा बैंक (5.58%) और बजाज फाइनेंस (5.84%) थे। 


क्यू4 की आय:


डाबर इंडिया का शुद्ध लाभ 24% घटकर 281.2 करोड़ रुपये रहा जो पिछले साल 370 करोड़ रुपये रहा था। और राजस्व 2128.2 करोड़ रुपये के मुकाबले 12.4% कम होकर 1865.4 करोड़ रुपये रहा।


सन फार्मा ने इसी अवधि के दौरान मार्च में समाप्त तिमाही में 622.9 करोड़ रुपये के मुकाबले 399.8 करोड़ रुपये के समेकित लाभ की सूचना दी। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में तिमाही के दौरान सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज का राजस्व 7163.93 करोड़ रुपये था जो इस साल 8184.9 करोड़ रुपये रहा।


केपीआईटी टेक्नोलॉजीज का समेकित शुद्ध लाभ 40.9 करोड़ रुपए के मुकाबले 38.1 करोड़ रुपए रहा और 7% की गिरावट दर्ज की। और कंपनी का राजस्व 550 करोड़ के मुकाबले 1.1% बढ़कर 556.2 करोड़ रुपये हो गया।


लॉकडाउन का ग्लोबल मार्केट पर प्रभाव:


लॉकडाउन में राहत के कारण व्यावसायिक गतिविधियां फिर शुरू होने को लेकर बाजार में कुछ आशावाद है जिसके परिणामस्वरूप पूरी वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार दिख रहा है। तेल की कीमतों में गिरावट थी और ब्रेंट क्रूड फ्यूचर्स 1.5% घटकर $35.62 प्रति बैरल पर आ गया। संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते तनाव के कारण वैश्विक बाजार का आंकड़ा प्रभावित हुआ है। हांगकांग के हेंगसेंग में शेयरों में 1% की गिरावट आई और चल रहे विरोध प्रदर्शनों के बीच मुख्य भूमि के शेयरों में गिरावट आई।


Comments