पुरोहित ज्योतिष और मन्दिरों के पुजारियों को सकंट की घड़ी में सरकार और लोगो का मिले सहयोग


✍️  ज्योतिषाचार्य अतुल शास्त्री


लगभग 137 करोड़ लोगों के लिए बीस लाख करोड़ रुपए का राहत पैकेज देने की घोषणा की गई है परन्तु जो ब्राह्मण समाज धार्मिक अनुष्ठान, पूजा पाठ, मंदिरों तथा तीर्थों की सेवा में लगा हुआ है, उसे इसमें कहीं भी स्थान नहीं मिला है। हालांकि प्रतिदिन पूजा पाठ व मंदिरों की सेवा में लगे ब्राह्मण वर्ग के लिए आजीविका अर्जित करने का यही एकमात्र ज़रिया है। यह वाकई अफसोस की बात है कि इस संकट की घड़ी में सरकार की योजनाओं से ब्राह्मण वर्ग पूरी तरह वंचित है। ऐसे में ज्योतिष सेवा केन्द्र के संस्थापक पंडित अतुल शास्त्री का कहना है कि सरकार को ब्राह्मण वर्ग के हितों को लेकर सामने आते हुए भरपूर मदद करनी चाहिए। 


इसी संदर्भ में अतुल शास्त्री ने कहा है कि शीघ्र ही इस संबंध में केंद्र और राज्य सरकार को ज्ञापन भेजकर पूरी स्थिति से अवगत करवाया जाएगा और आर्थिक पैकेज की मांग प्रमुखता के साथ उठाई जाएगी।


ब्राह्मणों के लिए राहत पैकेज की मांग करेंगे। कोरोना के लॉकडाउन के चलते केंद्र और राज्य सरकार कर्मकांडी ब्राह्मण, पुजारी, तीर्थ पुरोहित व ज्योतिषियों को भी राहत पैकेज दें क्योंकि ब्राह्मण वर्ग भी राहत पैकेज में शामिल समूहों की तरह इसका हकदार है। जबकि यह वर्ग भी पूजा-पाठ व तीर्थ पर सेवा कर अपनी जीविका चलाते हैं।


Comments