प्रयागराज : लागू हुई धारा 144


रिपोर्ट : एडवोकेट विनीत दुबे


प्रयागराज, (उ0प्र0) : जनपद के नगरीय क्षेत्र की कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने एवं शांति व्यवस्था सुनिश्चित करने के साथ-साथ कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए तथा रमजान के त्यौहार को सकुशल संपन्न कराने के उद्देश्य से अपर जिला मजिस्ट्रेट, प्रयागराज अशोक कुमार कनौजिया ने प्रयागराज के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में धारा 144 निषेधाज्ञा जारी की है।


ईद-उल-फितर  के त्यौहार को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने हेतु अपर जिला मजिस्ट्रेट ने धारा 144 की आवश्यकता महसूस की, क्योंकि शरारती तत्वों को पूर्व में चिन्हित नहीं किया जा सकता। इसी कारण उन्हें सुनवाई का अवसर दिया जाना संभव नहीं है। इस धारा के अंतर्गत स्थिति की तात्कालिकता को दृष्टिगत रखते हुए एवं समयाभाव होने के कारण बिना किसी दूसरे पक्ष को सुनें अथवा नोटिस दिए एकपक्षीय आदेश पारित किया जाता है। यह निषेधाज्ञा दिनांक 18 मई 2020 से दिनांक 18 जून 2020 तक प्रभावी रहेगी।


आदेश के अनुसार सभी सामूहिक गतिविधियाें पर प्रतिबंध रहेगा एवं सार्वजनिक स्थल पर एकत्रित होने की पूर्णत: मनाही रहेगी। सभी धार्मिक स्थल एवं जुलूस आदि निषिद्ध रहेंगे। आवश्यक गतिविधियों को छोड़कर शेष सभी पर प्रतिबंध रहेगा। कोई भी सूअर पालक रमजान के त्यौहार के अवसर पर सूअरों को बाड़े से बाहर संचरण हेतु नहीं निकालेगा तथा कोई भी व्यक्ति मस्जिदों एवं ईदगाहों के आस-पास गंदगी नहीं फैलाएगा। इसके साथ ही नोवल कोरोना से संबंधित किसी भी प्रकार की अफवाह का प्रेषण या प्रचार-प्रसार किसी भी माध्यम से किया जाना प्रतिबंधित रहेगा। उपरोक्त आदेश के किसी भी उपखंड का उल्लंघन करने पर भारतीय दंड  विधि की धारा 188 के अंतर्गत यह दंडनीय अपराध माना जाएगा। इस आदेश का प्रचार समाचार पत्रों में प्रकाशित कराकर, पुलिस द्वारा गाड़ियों में लाउडस्पीकर लगाकर, न्यायालयों कार्यालयों की सूचना-पट्ट पर चस्पा कराकर अथवा किसी एक प्रकार से किया जाएगा।


Comments