प्रार्थना और दुआओं के संगम का दिन
 


✍️  सलिल पांडेय

 

22 मई '20' को मृत्यु के चंगुल से अपने पति सत्यवान को बचाने वाली होगी वट-सावित्री पूजा। महिलाएं पूजा में 'कोरोना रूपी यमराज' के खिलाफ भी भगवान शंकर से प्रार्थना करें।

 

22 मई - शनि- जयंती का दिन : अवांछित धन संग्रह के अलावा खुद से कमजोर को सताने से रुष्ट होते हैं आध्यात्मिक न्यायाधीश शनिदेव। प्रायश्चितमें असहाय की मदद तथा पुनः भूल न करने का कठोर संकल्प लेने पर दंड कम भी करते हैं शनिदेव

 

22 मई '20' माहे रमज़ान का आखिरी ज़ुम्मा (जुम्मा-तुल-अलविदा) नमाज़ में विश्व-व्यापी संकट से बचाने के लिए ख़ुतबा पढ़ते वक्त दुआ करें अल्पसंख्यक समुदाय के लोग ।

 

समूह की प्रार्थना और उससे निकली तरंगें लाभप्रद होंगी ।

 

अंतर्मन से की गई प्रार्थना/दुआ निरर्थक नहीं होतीं ।

 

Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image
पावस ऋतु के स्वागत में ‘काव्य सृजन’ की ‘मराठी काव्य’ गोष्ठी
Image