फैक्ट्री से वेतन ना मिलने पर आक्रोशित श्रमिक एकजुट होकर कर रहे है विरोध प्रदर्शन


फैक्ट्री मालिका गाइड लाइन पालन की उड़ा रहे है धज्जियां


रिपोर्ट : तनवीर खान


उत्तर प्रदेश : जनपद उन्नाव में दही चौकी स्थिति कवरेज करते हुए पत्रकारों को पता चला की इंडस्ट्रीज एरिया ग्राम चांद पुर रोड पर स्लाटर हाउस स्टैण्डर्ड फ्रोज़न फूड्स एक्सपोर्ट्स कम्पनी है, जो की कोरोना आपदा लॉक डाउन के कारण बंद है। भारत सरकार द्वारा गाइड लाइन चलाई गई है की सभी औद्दोगिक इकाइयां व दुकानदार अपनी अपनी लेबरो को पैसा दे व लॉक डाउन तक अपनी लेवर व कर्मचारी का पूरा ध्यान रखे, जिसके पश्चात गरीबों का उड़ाया जा रहा है। मज़ाक वह सभी अपनी जान जोखिम में डालकर हो रहे है एकत्रित सोशल डिश्टेंसिंग की उड़ा रहे है खुलेआम धज्जियां, ठेकेदारों के सामने बनी है कड़ी चुनौती।


ठेकेदारों का कहना है जब भी हम लोग पैसा मांगते हैं कंपनी से कंपनी वाले हम लोगों को बता देते हैं कि आपके अकाउंट में रुपया पहुंच गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशों का किया तार तार। बताते चले की 400 के लगभग दिहाड़ी मजदूर कार्य करते है। जिसमें 50 के लगभग स्टाफ कर्मचारी है। मजदूर सभी है सभी है बहुत ही मजबूर  किसी को भी कम्पनी ने ना तो मास्क, सैनिटाइजर की व्यवस्था की, ना भोजन की व्यवस्था की है। ना ही उनको पगार दी गई है। दो दो तीन तीन माह हो चुके है पगार नहीं मिला है। श्रमिक मजदूर जिला अधिकारी से लगा रहे हैं न्याय की गुहार। जब वह अपनी पगार मांगते है तो सभी को गेट पर से ही भगा दिया जाता है और ठेकेदारों से कहा की आप लोगो का रुपया आप लोगो के एकाउंट में पहुंचा दिया गया है पर वह जब बैंक पहुंच कर अपना रुपया निकलते है तो उनको पता चलता है की आप के एकाउंट में रुपया आया ही नहीं है।


फैक्ट्री मालिकान मजदूरों के साथ खेल हैं रहे हैं लुका छुप्पी का खेल महिला मजदूरों का हाल तो ये है की उनके पास तो खाना खाने को तक भोजन ही नहीं है वह एक वक्त खाना खाते है मांग कर दूसरे टाइम भूखा ही रहना पड़ता है। ये सभी दिहाड़ी मजदूर बिहार, बंगाल, नेपाल आदि राज्यो के रहने वाले है यह सभी लॉक डाउन के कारण फसे हुए हैं। जो की कम्पनी में ही लंबे समय से कार्य कर रहे थे। अपनी बेबसी किसी से बता ही नहीं पा रहे है उनको यह भी भय है की कही उनकी यह आवाज दबा ना दी जाए जो कि वह कही के ना रहे इस कारण वह सभी अपना अपना शोषण करवा रहे है और कम्पनी उनका भार पूर शोषण करने से पिछे भी नहीं हट रही है सभी ठेकेदार परेशान है आलमगीर, अमित, आशीष, इरफान, फुरकान, रजोल, प्रदीप यादव, तैमुर, सलीम, जमशेर, इरशाद अली, जाकिर, इंतजार, अवधेश, निसार, राजेन्द्र, अदनान, धीरेंद्र सिंह आदि ने अपनी समस्या से अवगत कराया लेबरों में साजन, आलम, सायदा, काजल, कमला, आलिया, गुड़िया, सबीना, संदीप, मुस्कान, रूपा, सरीना, पप्पू, गुड्डू, मोनू, विकास, अर्जुन, रोहित, मोइनुद्दीन, सत्तार, दानिश, किरण कुमार, पीयुस, प्रदीप, अशफाक आदि मजदूर एकत्रित रहे ठेकेदारों के सामने यह बहुत बड़ी समस्या का कारण बनी हुई है। अब देखना ये है की इन बे सहरो का सहारा कौन बनता है।


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी के लिए केंद्र नहीं राज्य सरकार जिम्मेदार : भवानजी
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image