पत्रकारों और सुरक्षा गार्डों को कोरोना योद्धा का दर्जा दें : आदित्य सिंह


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा 


मुंबई : चीनी शहर वुहान से फैलने वाला कोरोना वायरस अब दुनिया भर में फैल रहा है और कोरोना संक्रमणों की संख्या लाखों में पहुंच गई है। भारत में तीन लॉकडाउन के पूरा होने के बाद भी, पीड़ितों की संख्या अभी भी हजारों में बढ़ रही है। पूरा देश कोरोना के खिलाफ लड़ाई में संघर्ष कर रहा है। इसमें डॉक्टरों, नर्सों और पुलिस की प्रमुख भूमिका है। विशेष कर मुंबई, ठाणे, मालेगाँव, नागपुर और राज्य के अन्य हिस्सों में तेजीसे बढ रहा है।


जिस दिन से कोरोना वायरस का प्रकोप हुआ है, पत्रकार रेड जोन में जाकर सही खबरे लोगो तक पहुंचा रहे हे। जबकि सुरक्षा गार्ड कोरोना योद्धाओं के जीवन की रक्षा के लिए काम कर रहे हैं। कई पत्रकार खबरों को लेकर सकारात्मक हैं। सरकार द्वारा जारी नियमों को लागू करते हुए सुरक्षा गार्ड, बैंक, अस्पताल मे सुरक्षा दे रहे हैं। इन सुरक्षा गार्डों को केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा कोरोना वारियर्स का दर्जा नहीं दिया गया है। बॉम्बे इंटेलिजेंस सिक्योरिटी इंडिया लिमिटेड के आदित्य सिंह ने मांग की है कि केंद्र और राज्य सरकार पत्रकारों और सुरक्षा गार्डों को कोरोना योद्धा का दर्जा दे जो ऐसे विषम परिस्थितियों में जीवन की परवाह न करते हुए कोरोना पीड़ितों की मदद में जुटे हुए हैं।


Comments