Mumbai : पुलिस प्रशासन से नहीं मिल रहा है प्रवासियों को गांव जाने के लिये सहयोग


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : मनपा एम पूर्व विभाग के अंतर्गत आने वाले गौतम नगर शिवाजी नगर, देवनार, मानखुर्द पुलिस थाने के बाहर बैठे पुलिस कर्मियों द्वारा पुलिस वेरिफिकेशन के फॉर्म में इतनी शर्ते लागू कर दी गयी है कि सुबह से शाम तक लाइन लगाकर खड़े होने के बाद भी अधिकतर प्रवासियों का पुलिस वेरिफिकेशन फार्म रिजेक्ट कर दिया जा रहा है। यही नहीं प्रवासी मजदूरों द्वारा बाहर के डॉक्टरों से मेडिकल कराए जाने पर भी उनके फार्म नहीं लिए जा रहे हैं। मजबूरन प्रवासी मजदूरों को दर दर भटकना पड़ रहा है। बड़ी संख्या में मजदूर तो घर से पुलिस चौकी के चक्कर लगाते हुए देखे गये, तो कुछ गुस्से में आकर फॉर्म फाड़कर सड़क में फेंकते हुए  बैरंग  घर  वापस जाते दिखाई पड़े।


जानकारों ने बताया कि एम पूर्व अंतर्गत आने वाले शिवाजी नगर, देवनार, मानखुर्द पुलिस थाने के बाहर बैठे पुलिस कर्मियों के सामने प्रवासी मजदूरों की भीड़ बढ़ने से पुलिस कर्मियों की भी चिंता बढ़ती जा रही है। वहीं अनेक मजदूरों ने बताया कि सरकार और स्थानीय  जनप्रतिनिधियों की ओर से किसी भी तरह की मदद न देने से हम लोगों को गांव जाने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं है। किंतु गांव जाने के लिए भराये जा रहे फार्म में जो शर्ते लागू की गई हैं, उन शर्तों को हम मजदूरों द्वारा पूरा करने में तरह-तरह की दिक्कतें उत्पन्न हो रही हैं। ऐसे में प्रवासी मजदूरों को गांव जा पाना टेढ़ी खीर शाबित हो रहा है।


Comments