Mumbai : लॉक डाउन के कसते शिकंजे से झल्लाये, भंगार माफियाओं ने पत्रकार पर किया जानलेवा हमला


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : कोरोना लॉक डाउन में पुलिस के कसते शिकंजे ने ग़ैरकानूनी काम करने वालो की पसीने छूटा दिया है। पुलिस की कड़ाई से की जा रही है, नाकाबंदी ने गलत काम करने वालों की कलाई खोल दिया है। इसमें व्यापारी वर्ग भी शामिल है, जो लॉक डाउन का फायदा उठाकर खूब मुनाफा कमाना चाहता है।


गौरतलब हो कि एम पूर्व मनपा अंतर्गत आने वाले मानखुर्द मंडाला स्क्रैप के व्यापारियों में हड़कंप मच चुका है, जिससे भंगार माफियाओं में पुलिस से बचने की सारी कवायद शुरू कर रखा है। जानकारी के अनुसार मंडाला स्क्रैप में चलने वाले हर अनैतिक गतिविधियों पर जब से मानखुर्द पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी प्रकाश चौगुले ने मानखुर्द पुलिस स्टेशन में हर दो नंबर के अनैतिक कार्यो पर अंकुश लगाया है। पत्रकारों से बात करते हुए प्रकाश चौगुले ने अपने नेतृत्व में की गई बड़ी कार्रवाई में गत दिनों स्क्रैप से चोरी छीपे गांवों ले जा रहे ट्रक को गस्त के दौरान शंका होने पर रोककर जांच किया तो उसमें 70 गांवों जाने वाले लोंगो से हर एक व्यक्ति से गाड़ी के ड्राइवर ने 5 हजार रुपए लेकर 70 लोगों से 3 लाख 50 हजार रुपए की उगाही करने का मामला पुलिसिया जांच में सामने आया। जिसमे मानखुर्द पुलिस ने लॉक डाउन अधिनियम के अनुसार ड्राइवर के खिलाफ एफआईआर दर्जकर लिया।


इसी तरह नाका बंदी में पुलिस को एक के बाद एक बड़ी कामयाबी स्क्रैप से निकलने वाली बगैर चलान वाली गाड़ियां प्रतिबंदित वस्तुओं पर करवाई करके मामले दर्ज किये गये है। प्रकाश चौगुले ने बताया कि अब तक 3 मामले मंडाला स्क्रैप के भंगार के व्यापारियों पर लिये जा चुके है। पुलिस की लॉक डाउन में कसते शिकंजे ने झल्लाये व आक्रोशित भंगार व्यापारियों ने स्क्रैप में खबर कवर करने गये एक पत्रकार पर सभी भंगार व्यापारियों ने मिलकर धावा बोल दिया। चारों तरफ से घिरे पत्रकार को बहुत बुरी तरह से धो डाला। कहा जाता है कि भंगार वालो के जानलेवा हमले में घायल पीड़ित पत्रकार ने अभी तक मारपीट के मामले को लेकर एफआईआर दर्ज नहीं किया है। सूत्रों के अनुसार अपने बचावो में भंगार के व्यापारियों ने मार खाये पीड़ित पत्रकार पर उगाही का आरोप लगाकर बचने की कोशिश कर रहे है। वहीं मामले की पुष्टि हेतु स्क्रैप के व्यापारियों  सहित पीड़ित पत्रकार से संपर्क साधने पर संपर्क नहीं हो पाया है।


उल्लेखनीय तौर पर मामले के उजागर होते ही क्षेत्र के विभिन्न सामजसेवी संगठनों, मंडलों, सक्रिय हो चुके है। सब लोगों ने एक सुर में मंडाला स्क्रैप में अनैतिक कारोबार करने वाले भंगार व्यापारियों किस्म के माफियाओं पर कड़ी करवाई करने की मांग पुलिस प्रशासन से लेकर राज्य के गृह राज्य मंत्री अनिल देशमुख से किया है। कहा जाता है कि पत्रकार पर जानलेवा हमला मंडाला स्क्रैप के व्यापारियों की दबंगाई को दर्शाता है। वहीं दूसरी और क्षेत्र के विभिन्न पत्रकार संगठनों,ने पत्रकार पर हुए हमले की कड़ी शब्दों में निंदा कर के प्रशासन से कड़ी करवाई की मांग की है। पत्रकारों के अनुसार लॉक डाउन में उन पर बढ़ते उन पर नही देश के चौथे स्तम्भ पर हो रहा है। कहा जाता है कि मानखुर्द पोलिस को क्षेत्र के लोकल पत्रकारो की बढ़ती सतर्कता के कारण क्षेत्रीय पुलिस को अपराधियों अपराधों सहित नाकाबंदी में गाड़ियां पकड़ने में कामयाबी मिल रही है। कहा जाता है कि क्षेत्रीय पत्रकारों ने नाकाबंदी के दौरान मानखुर्द मंडाला के सबसे बड़े सुपारी के व्यापारी साकिब आज़मी के 17 लाख रुपए का प्रतिबंधित तंबाखू का साठा उतरते समय पुलिस और पत्रकारो की सामूहिक करवाई में बरामद हुआ था। जिसमे पुलिस ने बरामद माल को अपने कब्जे में लेकर मामला दर्ज करने की बात सामने आई थी।


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी के लिए केंद्र नहीं राज्य सरकार जिम्मेदार : भवानजी
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image