Mumbai : कोरोना महामारी को रोकपाने में एम-पूर्व मनपा प्रशासन हुआ असफल


एम/पूर्व सहायक आयुक्त सुधांशू द्विवेदी को हटाये जाने की मांग ने पकड़ा जोर


रिपोर्ट : यशपाल शर्मा


मुंबई : एम-पूर्व मनपा सहायक आयुक्त सुधांशू द्विवेदी के विभाग ने कोरोना के बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दिया है। जिसके कारण स्थानीय सामजसेवक अभिषेक तिवारी ने पूर्व मनपा आयुक्त प्रवीण परदेसी की तर्ज पर एम पूर्व विभाग सहायक आयुक्त सुधांशू द्विवेदी को तत्काल हटाकर, कोई योग्य कर्मठ अधिकारी नियुक्ति किया जाने की मांग की है।


कोरोना “कोविड-19” के मुंबई में बढ़ते प्रसार को देखते हुए, राज्य के मुख्य सचिव की नाकामी बताकर पूर्व मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धाव ठाकरे से लेकर मुख्य सचिव अजोय मेहता से हाकाल पट्टी की मांग कर दिया है। क्षेत्रीय सामजसेवक ने कहा आज एम पूर्व वार्ड की गरीब जनता भुखमरी के कारण परिवार दाने दाने को सड़कों की खाक छान रहा है। मुंबई की विभिन्न सामजसेवी संस्थानों द्वारा मनपा को गरीबों तक वितरित किये जाने वाला किट रिलाइंस फाउंडेशन व बजाज का किट मुंबई के विभिन्न विधानसभाओ में मुंबई के 24 मनपा वार्डो में सहायक आयुक्तों ने विधयकों को वितरित किया। परंतु बीएमसी द्वारा विधायकों को गरीबों दिया जाने वाला किट सीधे जरूरत मंदो तक न पहुंचकर समाज के बड़े धनाढ्य लोंगो तक कैसे पहुंच रहा है। दूसरा मामला किट में बासमती चावल की बजाये राशन का चवाल डालकर, जरूरतमंद जनता को कचरा खिला रहे है।


 


उल्लेखनीय तौर पर एम पूर्व के झोपड़पट्टी रहिवासिय क्षेत्रों से जनता में कोरोना को लेकर जो डर और दहशत कायम है, उसके कारण उत्तर भारत की और जाने वाले प्रवासियों के चेहरों पर साफ तौर पर देखा जा सकता है, परिणाम स्वरूप रेला थामने का नाम नहीं ले रहा है। पूरे विभाग में कोरोना के बढ़ने का कारण लॉक डाउन का उल्लंघन बड़े पैमाने पर देखने को मिल रहा है। खासकर शिवाजीनगर-मानखुर्द विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आने वाले शिवाजीनगर बगैनवाड़ी, ज़ाकिर हुसैन नगर, उमरखाडी, संजय नगर, पद्मनागर जैसे झोपड़पट्टियों बहुल्य क्षेत्रों में सोशल डिस्टनसिंग की भी बड़े पैमाने पर धज्जियां उड़ रही है। वहीं क्षेत्र के वरिष्ठ सामजसेवक अभिषेक तिवारी के अनुसार एम पूर्व के विभिन्न क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन, जरूरत मंदो तक राशन कीटो का वितरण नहीं हो पा रहा है। क्षेत्रीय रहिवासिय में बढ़ती बीमारियों के वैकल्पिक दावा खाना की व्यवस्था किये जाने की मांग की है। पत्रकार द्वारा एम पश्चिम-पूर्व के मनपा उपायुक्त भारत मराठे ने बताया कि कोरोना के बढ़ने का मुख्य कारण है कि जनता अपनी जिम्मेदारी समझकर लॉक डाउन का खुद पालन करें, अन्यथा मौका हाथ से रेत की तरह फिसलता चला रहा है। दूसरा बढ़ते मामलों को लेकर मनपा क्षेत्र के डॉक्टरों को अपनी क्लिनिक शुरू करने के लिये कहा है ताकि खांसी, सर्दी वाले मरीजों का इलाज हो सके। बुखार वाले मरीजों को सीधा मनपा अस्पतालों में रेफेर करे। जिसके लिये मनपा क्लिनिक चलाने वाले डॉक्टरों को 10 पीपी किट उपलब्ध करवायेगी, अस्पताल कर्मीय भी होंगे। जिससे क्षेत्रों में मोहल्ला क्लिनिक के जरिये कोरोना मामलों में अंकुश लगाया जा सके।


Comments