Mirzapur : प्रधान की उदासीनता के चलते सामाजिक दूरियों का मजदूर मनरेगा कार्य में नहीं कर पा रहे है पालन !



  • सरकार के निर्देश पर मनरेगा का काम शुरू हो गया है, लेकिन मनरेगा मजदूरों द्वारा सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है जिससे कोरोना मरीजो के संख्या मे इजाफा होने का खतरा बना हुआ है


रिपोर्ट : बृजेश गोंड


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : सिटी ब्लाक  क्षेत्र के बिकना एव टांड गाँव मे सरकार के निर्देश पर ग्राम प्रधान द्वारा मनरेगा का काम शुरू कर दिया गया है। इस दौरान बिकना एव टांड में चकरोड व नाले में मनरेगा के तहत कार्य कराये जा रहे कार्यों में सामाजिक दूरी का पालन नही कर रहे है, ना ही माक्स का ही उपयोग कर रहे है।



जबकि देश के प्रधानमन्त्री भी कार्य के दौरान सामाजिक दूरी व मास्क लगाने की अपील बार-बार करते आ रहे है। इन दोनो गांव में मनरेगा जॉबकार्ड धारकों द्वारा काम के दौरान सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। इस विषय पर जब मजदूरो से बात की गई तो उन्होने कहा की ग्राम प्रधान द्वारा कुछ मजदूरो को माक्स दिया गया है और हम लोगो को नही मिला है, अगर मिलेगा तो हम लोग लगा लेंगे।


जब इस सवाल के लिये ग्राम प्रधान टांड गोविन्द पाल से बात  करना चाहा तो, उन्होने कुछ मजदूरो को माक्स देकर वह खुद ही अपना पीठ थपथपाते नजर आये और कहा की जिसको जो करना है, करे। हम इसी तरह कार्य कराते है। उनके कार्य करने का तरीका फ़ोटो व वीडियो में साफ देखा जा सकता है। यहां न तो सोशल डिस्टेंस का पालन किया जा रहा है और न ही मास्क, सेनेट्राइजर, साबुन उपलब्ध है। जिसके चलते लोगो मे कोरोना जैसी बिमारी का खतरा बना हुआ है।



यही हाल ग्राम सभा बिकना का है। मजदूरो ने बताया की कुछ लोगो को माक्स दिया गया था, बाकी लोगो को देने के लिये ग्राम प्रधान के द्वारा कहा गया है। लेकिन अभी तक नही दिया गया। अब समझने की बात यह है की क्या ग्राम प्रधान वायरस का इंतजार कर रहे है की जब आ जायेगा तब दे देंगे।


इस विषय पर ग्राम रोजगार सेवक चंद्रा देवी से बात की गई तो उन्होने प्रधान के द्वारा दिया गया है... कहते कहते रुक सी गई। जिससे यह जाहिर होता है की ग्राम प्रधानो द्वारा नाम मात्र का माक्स देकर फोटो खिचाव लिया जाता है। जिससे अधिकारियो के सामने समाज सेवी बनाने का ढोंग रचा जा सके।


Comments