Mirzapur लाक डाउन : वाइक से आए दुल्हे ने मंदिर मे रचाई शादी


रिपोर्ट : मुंबई अमरदीप ब्यूरो


मिर्जापुर, उत्तर प्रदेश : नोवेल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के दृष्टिगत लोगों के तौर-तरीकों में काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। शादियों में ताम-झाम के स्थान पर सादगी दिखाई दे रही है। ऐसा ही एक नजारा बुधवार को जमालपुर थाना क्षेत्रान्तर्गत सिलौटा गांव स्थित हनुमान मंदिर परिसर में देखने को मिला। जहां बाइक से पहुंचे दूल्हे ने दुल्हन के गले में वरमाला डालकर एक दूसरे के साथ सात जन्मों तक जीने मरने की कसमें खाते हुए शादी के पवित्र बंधन में बंध गए। इस दौरान दोनों परिवार के मात्र पांच-पांच लोग शामिल हुए। परिजनों ने नव विवाहित जोड़े को आशिर्वाद देकर सुखमय जीवन जीने की कामना की।



जानकारी के अनुसार जमालपुर थाना क्षेत्र के ओड़ी गांव निवासी रामअचल ने अपनी पुत्री चांदनी की शादी तीन महीने पूर्व चंदौली जनपद के बबुरी थाना क्षेत्र के कुर्थिया गांव निवासी गोपी के पुत्र रामबली के साथ छह मई को होना सुनिश्चित किया हुआ था। नोवेल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के दृष्टिगत पुरे देश मे 25 मार्च से लागू लॉकडाउन के बाद वर एवं वधू पक्ष के लोगों ने मंदिर में शादी करने का निश्चय कर लिया। विवाह समारोह में शामिल लोगों ने शारीरिक दूरी का भी भरपूर पालन किया। विवाह की निश्चित तिथि पर बुधवार को कन्या पक्ष के लोग अपने गांव से दो किलोमीटर पैदल चलकर सिलौटा स्थित हनुमान मंदिर परिसर में पहुंच गए और वर पक्ष के लोग तीन बाइक पर सवार होकर पहुंच गए। शादी में कन्या पक्ष की ओर से माता, पिता, भाई एवं बाबा और वर पक्ष की ओर से माता, पिता, बहन और बहनोई शामिल हुए। शादी के पूर्व वर-वधू के हाथ साबुन से धुलवाए गये, फिर शादी सम्पन्न करवाया गया। इस दौरान मंदिर परिसर में मौजूद वर व कन्या पक्ष के लोगों ने वर-वधू को आशीर्वाद दिया। लॉकडाउन के दौरान हुआ यह अनोका शादी क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।    


Comments