Mirzapur : कोरोना के बढ़ते कदम से " प्रशासनिक अमला हो या हेल्थ विभाग का गमला " सब मुरझा गए हैं


जिले का रोज़नामचा



  • हाय कोरोना, हाय कोरोना के ही जप से फुरसत नहीं

  • विंध्यधाम की पुकार - मां करो दहाड़ : कोरोना का निकले प्राण


रिपोर्ट : सलिल पांडेय


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : एक समाचार पत्र के युवा पत्रकार मुकेश पांडेय ने प्रथम जानकारी सोशल मीडिया पर साझा की कि जमालपुर क्षेत्र का एक व्यक्ति चन्दौली जिले में पॉजिटिव पाया गया तो फिर जनपदवासियों के चेहरे पर मायूसी का मास्क दिखाई पड़ने लगा। इसी बीच पत्रकार शशि गुप्त ने इसे पुष्ट किया और लिखा कि इसे भी विंध्याचल में रखा जाएगा तो दिल से आह निकलना स्वाभाविक था। दिल पर जोर का झटका लगा कि कहां ग्रीन जोन में जा रहे थे अब रेड की ओर बढ़ चले हैं। स्वाभाविक है कि ऐसी स्थिति में फिर सामान्य जनजीवन में बंदिशों का बादल घहरा न जाए। शशि गुप्त की सूचना कि फैज़ाबाद में एक पॉजिटिव की वजह से उसके रिश्तेदारों को कछवा से उठाया गया है। क्योंकि वह रिश्तेदारी में आया था। स्वास्थ्य विभाग यह जानने की कोशिश में लगा है कि कहीं पॉजिटिव वाली रिश्तेदारी का मामला तो नहीं है ? जमालपुर को भी हॉटस्पॉट बनाया जा रहा है।


भूख गायब, नींद गायब, इनका इलाज कौन करे ?


पिछले लगभग 4 माह से अदृश्य शत्रु पर तीर-वाण चला रहे प्रशासनिक अमला हो या हेल्थ विभाग का गमला सब मुरझाए से लग रहे हैं। न रात न दिन। पूजा पाठ में हाय कोरोना का जप। जो कोरोना जपेगा उसकी क्या स्थिति होगी, यह कम पढ़ा-लिखा भी समझ सकता है। इसके लिए स्कूली शिक्षा अनिवार्य नहीं आन-लाइन ज्ञान का दौर में।


धरती पुकारे मां विंध्यवासिनी बचाओ -


असहाय स्थिति में विंध्यधाम का कण-कण बोल रहा है कि 'मां करो दहाड़ ताकि कोरोना का निकल जाए प्राण।


Comments