कोविड-19 से मुकाबले के लिए दीपक फर्टिलाइज़र्स एंड पैट्रोकैमिकल्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने लांच किया ऐल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइज़र ’कोरोरिड’


इसकी खासियत है ’आइसोप्रोपाइल ऐल्कोहल’ जो सैनिटाइज़र्स व डिसइनफेक्टटेंट्स के लिए दुनिया का सबसे जानामाना ऐल्कोहल है


रिपोर्ट : डीएमए डिजिटल डेस्क


पुणे : भारत की अग्रणी औद्योगिक रसायन व उर्वरक उत्पादक कंपनी दीपक फर्टिलाइज़र्स एंड पैट्रोकैमिकल्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड (DFPCL) ने हैंड सैनिटाइज़र सैगमेंट में कदम रखा है। कंपनी ने ’कोरोरिड’ ब्रांड नाम से आईपीए आधारित हैंड सैनिटाइज़र लांच किया है जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुशंसित फॉर्मूलेशन के मुताबिक तैयार किया गया है। कंपनी का उद्देश्य है निर्यात के बजाय घरेलू जरूरतों को प्राथमिकता देना तथा देश के अंतिम उपभोक्ता तक उच्च क्वालिटी के हाइजीन उत्पादों की उपलब्धता सुनिश्चित करना। DFPCL का फोकस मुख्य रूप से हैंड सैनिटाइज़र के लिए आईपीए का कच्चा माल आपूर्ति करने पर रहता है किंतु अब वह धीरे-धीरे स्वयं हैंड सैनिटाइज़र निर्माता बनने पर अपना ध्यान लगा रही है।


’आइसोप्रोपाइल ऐल्कोहल’ (आईपीए) हैंड सैनिटाइज़र और रबिंग ऐल्कोहल में इस्तेमाल होने वाला दुनिया का सबसे जानामाना सक्रिय घटक है। कई प्रतिष्ठित संस्थानों जैसे विश्व स्वास्थ्य संगठन, सेंटर फॉर डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन तथा स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने आईपीए आधारित हैंड सैनिटाइज़र के इस्तेमाल की सलाह दी है। महामारी के इस दौर में देश में सैनिटाइज़र बनाने वाली बहुत सी कंपनियां आ चुकी हैं किंतु DFPCL का हैंड सैनिटाइज़र अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्य विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुशंसित फॉर्मूलेशन का अनुपालन करता है जो कि आवश्यक हाइजीन स्तर के लिए वैश्विक क्वालिटी मानकों को पूरा करता है।  


इस नए कदम के बारे में कंपनी के चेयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर श्री शैलेश सी. मेहता ने कहा, ’’कोविड-19 महामारी के कारण हमारे देश में डिसइनफेक्टिंग एजेंट्स की मांग में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। केन्द्र सरकार ने भी सैनिटाइज़र को आवश्यक वस्तुओं की सूची में रखा है ताकि इसकी निर्बाध व पर्याप्त आपूर्ति होती रहे। हमारा आईपीए आधारित हैंड सैनिटाइज़र ’कोरोरिड’ विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुशंसित फॉर्मूलेशन के अनुसार बनाया गया है। यह कोविड-19 महामारी से लड़ाई में ’हाईजीनिक हैंड डिसइनफेक्शन’ और ’सर्जिकल हैंड डिसइनफेक्टेंट’ के तौर पर काम देता है। अप्रैल 2020 के मध्य में ’कोरोरिड’ का लांच किया गया था जिसे उत्साहपूर्ण प्रतिक्रिया मिली। DFPCL फार्मेसी और हाइपरमार्केट चेन, मॉडर्न ट्रेड और ईकॉमर्स चैनलों के साथ अपने मौजूदा वितरण नेटवर्क का उपयोग कर रही है ताकि इस उत्पाद को पूरे भारत में आसानी से उपलब्ध कराया जा सके। अपने अंतिम उपभोक्ताओं के करीब पहुंचने के लिए हम आईपीए आधारित अन्य उत्पादों की संभावनाओं का जायज़ा ले रहे हैं। यह कदम हमने अपनी स्थापित रणनीति के मुताबिक उठाया है कि हमें कमॉडिटी से स्पेशलिटी उत्पादों की ओर आगे बढ़ना है।’’


कंपनी ने अपने फॉर्मूलेशन पर महाराष्ट्र एफडीए से मंजूरी प्राप्त कर ली है। यह उत्पाद 500 मिली लीटर, 1 लीटर, 5 लीटर, 10 लीटर, 20 लीटर, 25 लीटर, 200 लीटर तथा टैंकर लोड के माप में उपलब्ध है। ’कोरोरिड’ में प्रभावी ऐंटी-बैक्टीरियल, ऐंटी-फंगल और ऐंटी-वायरल एजेंट है जिसमें साबित हो चुके डिसइनफेक्टेंट गुण हैं जो त्वचा को डिहाइड्रेट नहीं करता और त्वचा पर कोमल है।


DFPCL भारत में आइसोप्रोपाइल ऐल्कोहल (आईपीए) की अग्रणी उत्पादक कंपनी है, इस सैगमेंट का 75 प्रतिशत मार्केट शेयर इसी के पास है, कंपनी की स्थापित क्षमता 70,000 MTPA है। यह कंपनी भारत में फार्मा/ औद्योगिक ग्राहकों व अन्य सैनिटाइज़र विनिर्माताओं को आईपीए की आपूर्ति करती है।


Comments