🌹 दोस्ती 🌹


✍️ भावना गौड़


बचपन की दोस्ती 
की धुंधली यादें मन
के एक कोने में आज भी
स्मृति में सजोकर रखें हुए है हम
जब भी याद आती है मन भावुक हो.


दोस्ती अनमोल है
बचपन में कैसे हम सब
छोटी बातों से एक दूसरे के
बिना नहीं रह पाते थे बहुत रोते
बस वही दोस्त दिल के करीब होते थे .


अनोखा बचपन 
लड़ना झगड़ना एक साथ
पल में मान जाना दोस्ती भी पक्की
आज भी धुंधली स्मृति मन के झरोखे से
भावुक हो जाती हूँ बचपन के उन लम्हों में.


वही मित्र बचपन के
हम सभी फिर से मिले हैं
फेसबुक, इंस्टाग्राम के माध्यम से
अचानक इतनी खुशी का अनुभव हुआ
जैसे कोई खोया खज़ाना वापस मिल गया हो.


Comments
Popular posts
Mumbai : ‘काव्य सलिल’ काव्य संग्रह का विश्व पर्यावरण दिवस पर विमोचन और सम्मान पत्र वितरण समारोह आयोजित
Image
Mumbai : महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी पर्यावरण विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष साहेब अली शेख, मुंबई अल्पसंख्यक अध्यक्ष व नगर सेवक हाजी बब्बू खान, दक्षिणमध्य जिलाध्यक्ष हुकुमराज मेहता ने किया वृक्षारोपण
Image
New Delhi :पर्यावरण संरक्षण महत्व व हमारा अस्तित्व पर 'एम वी फाउंडेशन' द्वारा विराट कवि सम्मेलन का आयोजन
Image
पेट्रोल के दामों में बढ़ोत्तरी के लिए केंद्र नहीं राज्य सरकार जिम्मेदार : भवानजी
Image
मानव पशु के संघर्ष पर आधारित फिल्म 'शेरनी' मेरे दिल के करीब है – विद्या बालन
Image