दैनिक "मुंबई अमरदीप" के सहयोग ने गरीब परिवार के चेहरे पर लायी ईद की रौनक


रिपोर्ट : टी0सी0विश्वकर्मा


मिर्जापुर, (उ0प्र0) : हिंदुस्तान की खूबसूरती है गंगा जमुनी तहजीब, अनेकता में एकता और आपसी भाईचारा। हालांकि, आजकल इसी खूबसूरती को खत्म करने में भी कुछ लोग लगे हुए हैं। लेकिन ऐसी बहुत सी मिसालें हैं जो उम्मीद जगाती हैं और जिन्हें देखकर ये लगता है कि जो ताना-बाना इस देश में आपसी भाईचारे का है वो इतनी आसानी से टूटने वाला नहीं है। ऐसा ही कुछ नजारा उत्तर प्रदेश के मीरजापुर जिले में देखने को मिला।


नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण के दृष्टिगत पूरे भारत में गत 25 मार्च से किये गये लॉकडाउन के चलते खाने को लाले पड़ गये है। फिर त्योहार का क्या नजारा होगा आप खुद ही अंदाजा लगा सकते है। ऐसे में ईद के पाक मौके पर में “दैनिक मुम्बई अमरदीप” के प्रयास से एक परिवार को त्योहार मनाने के लिये 1100 रुपए का सहयोग किया गया।


दैनिक मुम्बई अमरदीप के छायाकार बृजेश गोंड ने एक गरीब व्यक्ति के लिये ग्रुप के माध्यम से त्योहार मनाने के लिये सहयोग करने के लिये लोगो से अपील की गई थी। श्री गोंड की अपील को संज्ञान मे लेते हुये सीटी ब्लाक के चितावनपुर निवासी बड़े भाई डा0 इजहार खान ने 500 रुपए, सीटी ब्लाक के ही शादी बनकट गाँव निवासी समाजसेवी रिन्कु सिंह ने 500 रुपए व बिकना निवासी फिरोज भाई ने 100 रुपए का सहयोग राशि दैनिक मुम्बई अमरदीप के छायाकार बृजेश गोंड दी। श्री  गोंड ने इस राशि को 24 मई को अमोई निवासी गरीब व्यक्ति को दिया गया। उसके सम्मान को देखते हुए दैनिक मुम्बई अमरदीप उसका नाम गुप्त रख्खा।


समाजसेवी रिन्कु सिंह ने कहा की सब मजहब एक है। अगर मंदिर जा सकते हैं तो मस्जिद क्यों नहीं जा सकते है। हम मनुष्य के लिये सभी धर्म एक है। ये पूछने पर की आपके धर्म के लोग बुरा नहीं मानते... इस पर उनके दोस्त मुकेश कहते हैं कि कोई कुछ भी सोचे उन्हें जो काम करके सुकून मिलता है, वो करेंगे। मुकेश ये भी कहते हैं कि उनके किसी मुस्लिम दोस्त ने कभी उन्हें ऐसा करने के लिए नहीं कहा। रिन्कु सिंह कहते हैं कि उनके इस तरह के मदद करने से कौमी एकता का एक अच्छा संदेश समाज मे जाता है। हमे समाज सेवा करके खुशी मिलती है, और साथ ही हमारे दोस्तों को भी खुशी मिलती है। हमारा मानना है कि इंसानियत ही सबसे बड़ा मजहब है और कोई कुछ नहीं हम इसी सोचे पर कायम रहेंगे। आतंकवाद हिंदुस्तान की इसी मजबूती को कमजोर करने की कोशिश है। पर ऐसे में इस तरह की मिसालें आंखों को ठंडक देती हैं और उम्मीद भी जगाती हैं।


वही चितावनपुर गाँव निवासी डा इजहार खान का कहना है की बृजेश का उठाया हुआ यह कदम बहुत ही सराहनीय है। आप ग्रुप के माध्यम से गरीबो का दुःख हम सब के बीच शेयर कर देते है, जिससे हम लोगो को समाज सेवा करने की मौका मिल जाता है। हम सब हर हिन्दुस्तानी को हर त्योहार मिल जुलकर मनाना चाहिए ताकि सामाजिक एकता व भाईचारा कायम रहे।


आप को बता दे की बृजेश गोंड सिटी ब्लाक क्षेत्र के बरियार पट्टी निवासी है और मिर्जापुर से “दैनिक मुम्बई अमरदीप” न्यूज़ पेपर के जिला छायाकार व पत्रकार प्रेस क्लब के सदर तहसील अध्यक्ष भी है। अगर इनको कोई कही गरीव मजबूर दिख जाता है तो उसका मदद करना अपना कर्तव्य समझते है उसे कही न कही से मदद जरूर दिलवाते है। उसी कड़ी मे ईद के एक दिन पहले एक गरीब परिवार को 11 सौ रुपए मदद लोगों के सहयोग से किया, जिससे गरीब परिवार अपने घर में बच्चो को मिष्ठान आदि लेकर त्योहार मना लेगा।


मुंबई अमरदीप के छायाकार बृजेश गोंड की जान सेवा भावना को देखते हुए आज शादी बनकट निवासी भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा के मण्डल उपाध्यक्ष साजिद खां की तरफ से 500 रुपये का सहयोग प्राप्त हुआ है। जिसे शाम तक योग्य व्यक्ति को प्रदान कर दिया जायेगा। बृजेश के इस सहयोग भावना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।


Comments