अमेरिका-चीन में बढ़ते तनाव के बीच सोने की कीमतों में सुधार


मुंबई : हांगकांग में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन के बीच गुरूवार को सोने की कीमतें 0.56 प्रतिशत बढ़कर 1718.5 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई। चीन ने इस क्षेत्र में कड़े सुरक्षा कानून लागू करने की योजना बनाई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ संबंध बिगड़ सकते हैं जो जवाबी कार्रवाई करने और हांगकांग के लोगों के साथ एकजुटता दिखाने के प्रति वचनबद्ध है। एंजल ब्रोकिंग लिमिटेड के नॉन-एग्री कमोडिटीज एंड करेंसीज के चीफ एनालिस्ट प्रथमेश माल्या ने बताया के यू.एस. में बेरोजगारी लगातार बढ़ रही है और महामारी से रिकवरी की अवधि पूर्वानुमान से ज्यादा होने के संकेत हैं। आर्थिक अनिश्चितता ने बाजार की भावनाओं को प्रभावित किया और पीली धातु की कीमत को बढ़ा दिया।


स्पॉट सिल्वर की कीमत 0.69 प्रतिशत बढ़कर 17.4 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुई। एमसीएक्स पर कीमतों में 0.35 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जो48,558 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुई।


डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमतें 2.7 प्रतिशत तक बढ़ गईं, जो रिफाइनिंग प्रक्रियाओं और मांग के बढ़ने से 33.7 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर बंद हुई। यह दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच तनावों से बेअसर रही। अमेरिकी एनर्जी इंफर्मेशन एडमिनिस्ट्रेशन (ईआईए) की रिपोर्टों के अनुसार, यू.एस. क्रूड इन्वेंटरी में अभूतपूर्व वृद्धि ने क्रूड ऑयल के लाभ को सीमित कर दिया है।


ओपेक और सऊदी अरब द्वारा उत्पादन में कटौती जारी रखने के बारे में महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए चर्चा के लिए बैठक होना है। हालांकि, आगे उत्पादन में कटौती पर रूस की अस्वीकृति ने कच्चे तेल की कीमतों पर दबाव डाला। दुनिया के कई देशों में हवाई और सड़क यातायात पर प्रतिबंध जारी है, जिससे कच्चे तेल की कीमतों में किसी भी वृद्धि को सीमित रखा।


Comments